बरहज विधानसभा चुनाव के पिछले परिणामों पर एक नजर

Saturday, January 28, 2017 2:09 PM

बरहज विधानसभा संख्या- 342
आंकड़े 16वीं विधानसभा चुनाव 2012 के अनुसार 

देवरिया जिले के अंतर्गत आने वाली विधानसभा संख्या 342 है बरहज। साल 2012 के आंकड़ों के अनुसार इस विधानसभा क्षेत्र में कुल मतदाताओं की संख्या 2लाख 87 हजार 442 है। जिसमें पुरुष मतदाताओं की संख्या 1 लाख 58 हजार 158 है। जबकि महिलाओं मतदाताओं की संख्या 1 लाख 29 हजार 279 हैं। सीट पर पिछले विधानसभा चुनावों में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी ने बहुजन समाज पार्टी के प्रत्याशी को हराया था। इस सीट पर समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी की बीच कड़ी टक्कर रहती है। पिछले तीनें चुनाव में एक-एक बार बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी को जीत मिली। जबकि एक बार निर्दलीय मैदान में उतरे उम्मीदवार को जीत मिली। फिलहाल सीट पर समाजवादी पार्टी का कब्जा है। लेकिन इसे बरकरार रखना पार्टी के लिए बड़ी चुनौती है। समाजवादी पार्टी में दो फाड़ हो चुके हैं। इसका सियासी फायदा निश्चित तौर पर अन्य दलों को होगा। फिलहाल देखना दिलचस्प होगा कि इस बार किस पार्टी पर जनता विश्वास जताती है।
               PunjabKesari  
आइए नजर डालते हैं पिछले तीन विधानसभा चुनाव के परिणामों पर-
16वीं विधानसभा चुनाव 2012 के नतीजे

16वीं विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी के प्रेम प्रकाश ने बहुजन समाज पार्टी की रेनू जायसवाल को हराया था। वहीं भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार नरेंद्र मिश्रा तीसरे स्थान पर रहे थे। जबकि पीस पार्टी के दुर्गा प्रसाद मिश्रा को चौथे स्थान पर रहना पड़ा था।
               PunjabKesari 
15वीं विधानसभा चुनाव 2007 के नतीजे
15वीं विधानसभा चुनाव में बहुजन समाज पार्टी के राम प्रसाद जायसवाल को जीत हासिल हुई थी। उन्होने समाजवादी पार्टी के स्वामी नाथ को हराया था। वहीं भारतीय जनता पार्टी के प्रमे प्रकाश सिंह को तीसरे स्थान पर रहना पड़ा था। जबकि निर्दलीय मैदान में उतरे दुर्गा प्रसाद मिश्रा चौथे स्थान पर रहे।
               PunjabKesari

14वीं विधानसभा चुनाव 2002 के नतीजे
14वीं विधानसभा चुनाव में निर्दलीय मैदान में उतरे दुर्गा प्रसाद मिश्रा में फतह हासिल की थी। उन्होने बहुजन समाज पार्टी के राम प्रसाद जायसवाल को हराया था। भारतीय जनता पार्टी के प्रेम प्रकाश तीसरे स्थान पर रहे थे। जबकि समाजवादी पार्टी के स्वामी नाथ को चौथे स्थान पर रहना पड़ा था।
               PunjabKesari
UP Political News की अन्य खबरें पढ़ने के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!