तुलसीपुर विधानसभा चुनाव के पिछले परिणामों पर एक नज़र

Thursday, January 26, 2017 12:58 PM
तुलसीपुर विधानसभा चुनाव के पिछले परिणामों पर एक नज़र

तुलसीपुर विधानसभा संख्या-291
आंकड़े 16वीं विधानसभा चुनाव 2012 के अनुसार

श्रावस्ती जिले के अंतर्गत आने वाली विधानसभा संख्या 291 है तुलसीपुर। साल 2012 के आंकड़ों के अनुसार इस विधानसभा क्षेत्र में कुल मतदाताओं की संख्या 3 लाख 28 हजार 190 है। जिसमें पुरुष मतदाताओं की संख्या 1 लाख 81 हजार 966 है। जबकि महिला मतदाताओं की संख्या 1 लाख 46 हजार 217 है। इस सीट पर 2012 में हुए पिछले विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी ने जीत हासिल की थी। जबकि उससे पहले हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने समाजवादी पार्टी को हराकर अपना कब्जा जमाया था। फिलहाल इस सीट पर समाजवादी पार्टी का कब्जा है। लेकिन इस बार समाजवादी पार्टी के लिए सीट पर संभावनाएं संशय में हैं। क्योंकि चुनाव से पहले पार्टी में कलह का दूसरी पार्टियों को फायदा होगा। देखना दिलचस्प होगा कि इस बार सीट पर किस पार्टी को जीत मिलती है।
               PunjabKesari
आइए नजर डालते हैं पिछले तीन विधानसभा चुनाव के परिणामों पर-
16वीं विधानसभा चुनाव 2012 के नतीजे 

16 वीं विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी के अब्दुल मसूद खान ने 39.35 फीसदी मतों के साथ सीट पर अपना परचम लहराया था। अब्दुल मसूद खान ने बीएसपी के सलमान ज़हीर को हराया था। कांग्रेस की कमलेश कुमार सिंह तीसरे स्थान पर रहे थे। जबकि बीजेपी के हनुमंत सिंह को सिर्फ 9884 वोटों के साथ चौथे स्थान पर सुंतष्ट रहना पड़ा था।
                PunjabKesari 
15वीं विधानसभा चुनाव 2007 के नतीजे
15वीं विधानसभा चुनाव में बीजेपी के कौशलेंद्र नाथ योगी ने समाजवादी पार्टी के अब्दुल मसूद खान को हराकर जीत हासिल की थी। बीएसपी के नुमान ज़हीर तीसरे स्थान पर रहे थे।जबकि एलजेपी के कमलेश कुमार सिंह को चौथे स्थान पर रहना पड़ा था।
               PunjabKesari

14वीं विधानसभा चुनाव 2002 के नतीजे
14वीं विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी के मसूद खान ने 34.83 फीसदी मत प्राप्त कर सीट पर अपना कब्जा जमाया था।समाजवादी पार्टी के मसूद खान ने निर्दलीय कमलेश कुमार सिंह को हराया था। बीएसपी के सलील सिंह 16.48 फीसदी मतों के साथ तीसरे स्थान पर रहे थे। जबकि बीजेपी के कौशलेंद्र प्रताप सिंह को चौथे स्थान पर रहना पड़ा था।
               PunjabKesari 

UP Political News की अन्य खबरें पढ़ने के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !