अधिकारियों की लापरवाही से ''लक्ष्मी लाडली योजना'' का लड़कियों को नहीं मिल पा रहा लाभ

Thursday, January 11, 2018 6:07 PM
अधिकारियों की लापरवाही से ''लक्ष्मी लाडली योजना'' का लड़कियों को नहीं मिल पा रहा लाभ

रांचीः झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने गरीब परिवारों को देखते हुए 'लक्ष्मी लाडली योजना' की शुरुआत की। इसकी शुरुआत 15 नवंबर 2011 को की गई थी। इसका लक्ष्य यह था कि पांच साल तक की लड़की का खाता खुलवाकर प्रत्येक वर्ष सरकार उस खाते में 6 हजार रुपए जमा करवाएगी। इस तरह से 21 साल तक की उम्र में सरकार द्वारा उस लड़की को 1 लाख 8 हजार रुपए दिए जाए। 

इस महत्वपूर्ण योजना का आरम्भ तो किया गया लेकिन अधिकारियों द्वारा इस योजना का उचित ढंंग से क्रियान्वयन नहीं किया गया। विभागीय अधिकारियों द्वारा दो सालों में अभी तक केवल 2.23 लाख लड़कियां ही इस योजना के साथ जोड़ी गई है। जिन बच्चियों को इस योजना के साथ जोड़ा गया है, उनको अभी तक ना ही कोई रसीद दी गई और ना ही पास बुक दी गई थी।

बता दें कि डेढ साल के बाद भी अभी तक उसका क्रियान्वयन सही ढंग से नहीं हो रहा है। गरीब परिवारों की संख्या 56 लाख है और केवल कुछ ही परिवारों को इनका लाभ मिला है।  



अपना सही जीवनसंगी चुनिए | केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन