यूपी विधानसभा चुनाव के बाद फिर मिले अखिलेश ने मिलाए राहुल के सुर में सुर, जानें क्या था माजरा

Thursday, September 14, 2017 5:03 PM
यूपी विधानसभा चुनाव के बाद फिर मिले अखिलेश ने मिलाए राहुल के सुर में सुर, जानें क्या था माजरा

लखनऊ: अमरीका में राहुल गांधी के वंशवाद के बयान का यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने समर्थन किया है। उन्होंने कांग्रेस उपाध्यक्ष के सुर में सुर मिलाते हुए अमरीकी पिता-पुत्र राष्ट्रपतियों का उदाहरण दिया। प्रेस कॉन्फ्रेंस में राहुल गांधी के द्वारा अमरीका में वंशवाद पर की गई टिप्पणी के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, राहुल जी हमारे साथी हैं, हमारे दोस्त हैं, हालांकि उन्होंने उत्तर प्रदेश और देश की राजनीति के परिप्रेक्ष्य में कहा होगा। अगर अमरीका की राजनीति के बारे में पूछा जाता तो शायद वह भी बता सकते थे कि अमेरिका में भी एक राष्ट्रपति थे जिनके बेटे राष्ट्रपति बने। एक और राष्ट्रपति थे, उनकी पत्नी भी राष्ट्रपति बनना चाहती थीं।’’ 

अखिलेश ने कहा कि दुनिया के लोकतंत्र में तमाम उदाहरण हैं, जहां एक परिवार को कोई व्यक्ति आगे निकला है, तो उसी परिवार का दूसरा भी आया है। मालूम हो कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल ने बर्कले में कैलीफोर्निया यूनिवर्सिटी में अपने भाषण में इस बारे में टिप्पणी की थी कि भारत में वंशवाद किस तरह मौजूद है। 

पिछला विधानसभा चुनाव एक साथ लड़ने वाली कांग्रेस और सपा के उत्तर प्रदेश के आगामी स्थानीय निकाय चुनाव में अलग-अलग ताल ठोंकने के सवाल पर अखिलेश ने कहा, ठीक है, हमारी दोस्ती रहेगी। आप पीछे से देखोगे तो उससे क्या हमारी दोस्ती तो रहेगी ही।’’ 

ऋणमोचन योजना को लेकर उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर तंज करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि राहत के लिए किसानों का इंतजार अभी बाकी है। खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान कहा था कि सरकार बनने पर किसानों का पूरा कर्ज माफ कर दिया जाएगा। अब जो हालात दिखाई दे रहे हैं वो सबके सामने हैं। इसके अलावा केंद्र और राज्य दोनों जगह बीजेपी की सरकार होने के बावजूद सरकार अपनी सबसे बड़ी घोषणा को पूरा नहीं कर पा रही है।

 


 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!