कानून व्यवस्था संभालने में नाकाम सिद्ध हुई योगी सरकार: अखिलेश

Friday, May 19, 2017 6:22 PM
कानून व्यवस्था संभालने में नाकाम सिद्ध हुई योगी सरकार: अखिलेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आज विधान परिषद में कहा कि राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार कानून व्यवस्था को संभाल पाने में नाकाम सिद्ध हुयी है। 

राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि मथुरा, सहारनपुर, वाराणसी, इलाहाबाद, लखनऊ आदि जिलों में हुई घटनायें प्रदेश की कानून व्यवस्था की पोल खोलती हैं। सपा को कानून-व्यवस्था के नाम पर बदनाम किया गया लेकिन अब तो दूसरी सरकार आ गई है। कानून व्यवस्था में सुधार दिखना चाहिए था लेकिन ऐसा नहीं हुआ। 

उन्होंने कहा कि 100 नंबर व्यवस्था समाजवादी सरकार ने शुरु की जिसकी दूसरे भी तारीफ करते हैं। सरकार भले ही दूरी आ गई लेकिन व्यवस्था तो हमारी बनाई हुई है। सरकार के लोग कम से कम डायल 100 के कार्यालय को ही देख लेते। न्याय की बात सरकार कर रही हैं लेकिन कानून व्यवस्था संभाली नहीं जा रही है।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार बनते ही योगी सरकार रोमियों के पीछे पड़ गई। सरकार को बताना चाहिये कि सूबे में कितने रोमियों पकड़ेे गये। इस सरकार ने रोमियों को ही बदनाम कर दिया। शिक्षक दल नेता ओम प्रकाश शर्मा ने रोमियों पढा भी है और पढ़ाया भी है। बेचारे रोमियों को जानें क्यों बदनाम कर रहे हैं वो तो शरीफ था। हमारी सरकार ने 109 वूमनपावर लाइन शुरु की जो रोमियों स्क्वायड से बेहत्तर थी। 

विकास कार्यो की चर्चा करते हुये अखिलेश यादव ने कहा कि दिनेश शर्मा लखनऊ के दो बार मेयर रहे हैंं और अब उप मुख्यमंत्री हैं। उन्होंने लखनऊ की गली-गली देखी हैं। उन्हें पता है कि समाजवादी सरकार ने कितना काम किया है। इसके पहले कभी किसी सरकार के समय में विकास का इतना काम नहीं हुआ। 

उन्होंने कहा, ‘मथुरा की घटना पर सरकार पिछली सरकार की घटना बताकर बचने का काम कर रही है। हम पर जातिवाद के आरोप लगते हैं। आप रंग से डराना चाहते हैं। गाय देखने का मन हो तो हम गाय के साथ-साथ शेर भी दिखा देंगे। मै हिन्दू नहीं हूं इसलिए मेरे पास गायें नहीं इस तरह की बाते की जाती हैं। यादव को तो गाय वाला ही माना है। बुन्देलखण्ड में अन्ना पशुओं की एक बडी समस्या है और हमारी सरकार ने उनके लिए एक योजना बनाई थी लेकिन अब देखना आप लोग उनके लिए क्या करेंगे।’

अखिलेश यादव ने कहा कि सबका साथ सबका विकास की बात तो करते हैं लेकिन सच्चाई कुछ और है। उन्होंने कहा कि गोरक्षा के नाम पर लोगों की जान ली जा रही है। खानपान से आप लोग नफरत फैला रहे हैं। प्रधानमंत्री जिन विदेशी लोगों से हाथ मिलाते हैं उनसे कभी पूछा कि आप क्या खाते हैं। पूर्वोत्तर में क्या होता है,गोवा में क्या हो रहा है। आप गाय का बचाव के नाम पर समाज में नफरत का जहर फैलाना चाहते हैं।

सपा अध्यक्ष ने कहा, ‘प्रधानमंत्री अपने भाषण में कुछ कहते हैं, इनके अभिभाषण और संकल्पत्र में कुछ लिखा है। मैं तीनों में से किस को सही मानूं। किसानों के कर्ज माफ पर बहुत समय लगा। सच्चाई सामने आ गई। सरकार ने किसानों के साथ धोखा किया। उन्होंने कहा कि 36 हजार करोड़ 81 लाख किसानों का एक लाख तक कर्ज माफ किया जायेगा। यह 36 हजार करोड़ का आंकडा सही नहीं है। हिसाब करने में बहुत समय लगेगा।’



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !