एक परंपरा के अनुसार यहां रात 12 बजे ही फहरा दिया जाता है तिरंगा

Tuesday, August 15, 2017 10:24 AM
एक परंपरा के अनुसार यहां रात 12 बजे ही फहरा दिया जाता है तिरंगा

कानपुरः वैसे तो पूरे देश में 15 अगस्त को तिरंगा फहराया जाता है, लेकिन कानपूर में एक परंपरा के अनुसार 14 अगस्त की रात को 12 बजे ही धूम-धाम के साथ तिरंगा फहराया दिया जाता है। यह परंपरा आजादी के बाद से ही चली आ रही है।

हर साल की तरह इस साल भी रात के ठीक 12 बजते ही कानपुर में आतिशबाजी के साथ 71  गोले दाग कर आजादी की 71 वीं साल का जश्न मनाया गया। शहर के मेस्टन रोड के बीच वाले मंदिर के पास लोग यह परंपरा साल 1947 से मनाते चले आ रहे हैं। बताया गया कि जब अंग्रेजो ने भारत को आजादी सौंपी थी। तब यहां सबसे पहले 14 अगस्त 1947 की रात को 12 बजे तब झंडा फहराया गया था।

आजादी के बाद तब से यहां हर साल 14 अगस्त को रात 12 बजे ही 15 अगस्त मनाया जाता है और झंडा फहराया जाता है। इस समारोह में पूर्व केन्द्रीय कोयला मंत्री श्री प्रकाश जयसवाल भी शामिल थे। इस झंडा रोहण में शहर के सभी वर्ग के लोगों के साथ-साथ स्वतंत्रता संग्राम सेनानी भी भाग लेते हैं। इस दौरान पूर्व मंत्री श्री प्रकाश जयसवाल ने कहा की हम हर साल यहां 14 अगस्त की रात को आजादी का जश्न मानते हैं। यह केवल इसी चौक पर होता है, यह हमारी परंपरा है और हमें इस पर गर्व है। ​
 



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !