SC के फैसले के बाद मुस्लिम महिलाओं ने मनाया आजादी का जश्न, कहा- आज हुआ हमारे साथ न्याय

Tuesday, August 22, 2017 3:21 PM
SC के फैसले के बाद मुस्लिम महिलाओं ने मनाया आजादी का जश्न, कहा- आज हुआ हमारे साथ न्याय

कानपुरः सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद से ही तीन तलाक पीड़िताओं समेत समूचे देश की मुस्लिम महिलाओं में जहां खुशी की लहर दौड़ पड़ी है, वहीं कानपूर में महिलाएं तिरंगा ले कर अपनी आजादी का जश्न बड़े ही धूम-धाम से मना रही है। यहां आतिशबाजी के साथ-साथ एक दूसरे का मुंह मीठा करा महिलाएं एक दूसरे को बधाई दे रही है।

आज हमारे साथ न्याय हुआ है
बता दें कि तीन तलाक के कहर से सालों से अपनी उजाड़ दुनिया में आंसू बहा रही मुस्लिम महिलाओं को आज सुप्रीम कोर्ट के फैसले से वो खुशी मिल गई जिसकी वह सालों से खुदा से दुआ मांग रही थी। तीन तलाक पीड़िता फरजाना ने फैसला आते ही आतिशबाजी करके अपनी खुशी को जाहिर किया। फरजाना को 9 साल पहले उसके पति साकिर ने तलाक दे दिया था। फरजाना का कहना है आज हमारे साथ न्याय हुआ है।

इस फैसले से मुस्लिम महिलाओं की हुई जीत
महिला शहर काजी हिना जहीर ने कहा कि मुस्लिम महिलाओं में एक खुशी की लहर दौड़ गई है। पहले वाले फैसले को लेकर काफी मायूसी हो रही थी, लेकिन अब जो फैसला आया है उसमें तलाक को असंवैधानिक मान लिया है। यह बहुत ही खुशी का फैसला है। इस फैसले से मुस्लिम महिलाओं की जीत हुई है।

तीन तलाक : क्या है सुप्रीम कोर्ट का फैसला
सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में तीन तलाक पर 6 महीने के लिए रोक लगा दी है। कोर्ट ने सरकार से कहा कि वह तीन तलाक पर कानून बनाए। सुप्रीम कोर्ट ने उम्मीद जताई कि केंद्र जो कानून बनाएगा उसमें मुस्लिम संगठनों और शरिया कानून संबंधी चिंताओं का खयाल रखा जाएगा। केंद्र ने राजनीतिक दलों से अपने मतभेदों को दरकिनार रखने और तीन तलाक के संबंध में कानून बनाने में केन्द्र की मदद करने को कहा है।


 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!