जब सात फेरे लेने से पहले बिगड़ी दूल्हे की तबीयत, तो दुल्हन ने लौटा दी बारात

Tuesday, December 5, 2017 6:26 PM

अलीगढ़ः अलीगढ़ में सोमवार शाम एक अच्छी खासी चल रही शादी में उस वक्त खलल पड़ गया जब दुल्हे की अचानक से तबीयत खराब हो गई। इस बात पर दुल्हन इतना भड़क गई कि उसने फौरन शादी से इंकार कर दिया। जिसके चलते मामला बिगड़ गया और पुलिस तक पहुंच गया। वहीं पुलिस और दोनों पक्षों के संभ्रांत लोगों के हस्तक्षेप से लड़की पक्ष को खर्च देकर शादी तोड़ दी गई।

जानिए क्या था मामला 
दरअसल घटना थाना देहली गेट के अभिनंदन गेस्ट हाउस की है। जहां शिवपुरी इलाके के रहने वाले राजेन्द्र प्रसाद के पुत्र डाल चंद्र की शादी गोण्डा के रहने वाले राम प्रसाद की बेटी चांदनी से तय हुई थी। चांदनी का कहना है कि पिताजी ने लड़का देखा था और शादी तय कर दी थी।

दुल्हे के चेहरे का रंग देख भड़की दुल्हन
वहीं चांदनी के पिता ने अपने सामर्थ्य के अनुसार बेटी की शादी की तैयारी धूमधाम से की। सोमवार को बारात आई और स्वागत भी फूल मालाओं से किया गया। दूल्हा डालचंद्र भी सजधज के मंडप में पहुंचा। इस बीच दुल्हन बनी चांदनी ने घूंघट की आड़ से जब दूल्हे के हाव भाव देखें, तो उसके चेहरे की रंगत उड़ गई।

शादी से किया इंकार
दूल्हे के बार-बार हाथ टेढ़े-मेढ़े करने और मुंह से लार टपकाना दुलहन को पसंद नहीं आया। जयमाल व कन्यादान की रस्म हो गई थी, लेकिन इस बीच दुल्हन ने सात फेरे से इनकार कर दिया।

हंगामे के बाद पहुंची पुलिस
बताया जा रहा है कि दूल्हे को शादी से पहले मिर्गी का दौरा भी पड़ा और दवा खाने पर ही हालत सुधरी, लेकिन तब तक दूल्हे की पोल खुल चुकी थी। ल़डकी पक्ष का कहना है कि शादी से पहले लड़के के बारे में कुछ बताया नहीं था। शादी से मना करने पर हंगामा हो गया। बड़े बुजुर्गों ने समझाने की कोशिश की, लेकिन दुल्हन नहीं मानी।

दोनों में हुआ ये समझौता 
जिसके बाद मामला थाना देहली गेट पहुंच गया। जहां समाज के लोगों ने समझौता कराते हुए लड़की पक्ष का सामान वापस करवा दिया। आपसी सहमती से लड़की पक्ष को डेढ़ लाख रुपए दिलवाकर शादी तोड़ दी गई।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!