गोरखनाथ मंदिर में योगी के सीएम बनने की खुशी में दिवाली जैसा जश्‍न, बढ़ी सुरक्षा

Sunday, March 19, 2017 10:47 AM
गोरखनाथ मंदिर में योगी के सीएम बनने की खुशी में दिवाली जैसा जश्‍न, बढ़ी सुरक्षा

गोरखपुरः भाजपा सांसद महंत योगी आदित्‍यनाथ के प्रदेश का मुख्‍यमंत्री बनने के बाद गोरखनाथ मंदिर पर जश्‍न का माहौल है। जोश में डूबे कार्यकर्ता जहां आतिशबाजी कर दिवाली मना रहे हैं, तो वहीं मंदिर की सुरक्षा व्‍यवस्‍था भी बढ़ा दी गई है। कल योगी आदित्‍नाथ के शपथ ग्रहण को लेकर भी देर रात तक मंदिर पर जुटे कार्यकर्ता और समर्थकों में उत्‍साह देखने को मिला। जोश में डूबे कार्यकर्ता मंदिर में आतिशबाजी कर दिवाली मना रहे हैं।

अबीर और गुलाल के साथ जश्‍न 
गोरखपुर के गोरखनाथ मंदिर में आज योगी आदित्यनाथ के मुख्‍यमंत्री बनने की घोषणा के बाद से ही जश्‍न का माहौल है। पूर्व मुख्‍यमंत्री वीर बहादुर सिंह के बाद यह पहला मौका है जब गोरखपुर को मुख्‍यमंत्री की सौगात मिली है। योगी आदित्‍यनाथ का मुख्‍यमंत्री बनते ही कार्यकर्ताओं को इस बात का एहसास हो गया है कि गोरखपुर ही नहीं, बल्कि प्रदेश की तस्‍वीर भी बदलने वाली है। योगी कार्यकर्ता अबीर और गुलाल के साथ गोरखनाथ मंदिर में जश्न मनाया जा रहा है। उन्होंने हर्षोउलास से मंदिर को खुब सजाया है।

योगी मुख्‍यमंत्री बन विकास का मार्ग प्रशस्‍त करेंगेः प्रबंधक
गोरखनाथ मंदिर के सभी जरूरी कार्यों की जिम्‍मेदारी को बखूबी निपटाने वाले द्वारिका तिवारी का कहना है कि वह 42 वर्षों से मंदिर की सेवा कर रहे हैं। उन्‍हें इस बात का काफी हर्ष है कि योगी आदित्‍यनाथ उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री बने। उनका कहना है कि वह गोरखपुर के साथ ही उत्‍तर प्रदेश का विकास भी करेंगे। वह सुबह 3 बजे से लेकर देर रात तक कार्य करते हैं और वह मुख्‍यमंत्री बनकर विकास का मार्ग प्रशस्‍त करेंगे।

मंदिर की सुरक्षा व्‍यवस्‍था बढ़ी 
वहीं गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा व्‍यवस्‍था का जायजा ले रहे एसएसपी रामलाल वर्मा का कहना है कि वह पूरे मंदिर की सुरक्षा व्‍यवस्‍था पर नजर रख रहे हैं। उन्‍होंने पीएसी की डिमांड की थी हेडक्‍वाटर से जो आ चुकी है। उनका कहना है कि अगले 48 घंटे में योगी आदित्‍यनाथ मंदिर आ सकते हैं। इसीलिए मंदिर की सुरक्षा व्‍यवस्‍था बढ़ा दी गई है। मंदिर में काम करने वाले जो लोग हैं और दर्शन करने आने वाले लोगों को ही मंदिर में प्रवेश दिया जाएगा। उसके अलावा अन्‍य उत्‍साहित लोगों पर भी नजर रखी जा रही है, जिससे शांति व्‍यवस्‍था बनी रहे।
 

 



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !