इलाहाबाद: हेल्थ सेंटर का औचक निरीक्षण, गंदगी देख महिला डॉक्टर पर भड़कीं रीता जोशी

Sunday, May 14, 2017 10:40 AM
इलाहाबाद: हेल्थ सेंटर का औचक निरीक्षण, गंदगी देख महिला डॉक्टर पर भड़कीं रीता जोशी

इलाहाबाद: यूपी की योगी सरकार इन दिनों एक्शन में है। इसी क्रम में कैबिनेट मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने अपने गृह नगर इलाहाबाद में कई स्वास्थ्य केंद्रों का औचक निरीक्षण कर वहां तमाम खामियां पकड़ीं। एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में गंदगी मिलने पर उन्होंने महिला डॉक्टर को जमकर फटकार लगाई और उससे कहा कि तुम्हे नौकरी में रहने का कोई हक़ नहीं है।

सीएमओ के खिलाफ मुख्यमंत्री से शिकायत
औचक निरीक्षण में एक ऐसा स्वास्थ्य केंद्र भी मिला, जिसका ताला पिछले डेढ़ सालों से नहीं खुला है। लोगों ने उसका ताला तोड़कर उसे शराब पीने और जुआ खेलने का अड्डा बना रखा था। इन खामियों के मिलने के बाद रीता जोशी ने जिले के सीएमओ के खिलाफ सीएम से शिकायत करने की बात कही है।

हेल्थ सेंटर से गायब मिले 8 में से 6 डॉक्टर
वहीं चाका इलाके के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र यानी सीएचसी में जब वह औचक निरीक्षण के लिए पहुंची तो वहां 8 में से छह डॉक्टर गायब मिले। वार्डों का बुरा हाल था।साफ सफाई का कोई इंतजाम नहीं था। बेड पर गंदी चादरें पड़ीं थीं। यहां स्वीपर समेत ज़्यादातर कर्मचारी भी गायब थे। महिला वार्ड का शौचालय बेहद गंदा पड़ा था। उसमे से इतनी दुर्गंध आ रही थी कि वार्ड में भी सांस लेना मुश्किल हो रहा था। यहां की हालत देखकर रीता जोशी गुस्से में तमतमा उठीं।

उन्होंने महिला डॉक्टर को सरेआम फटकार लगाई और उससे कहा कि सरकार तुम पर फालतू के पैसे खर्च कर रही है और तुम्हे नौकरी में रहने का कोई हक़ नहीं है। महिला डाक्टर सिर झुकाए चुपचाप मंत्री की डांट सुनती रहीं।

महिला डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश
स्वास्थ्य केंद्रों की हालत देखकर रीता जोशी ने कहा कि ज़िले के सीएमओ का काम ठीक नहीं है, इसलिए इनकी रिपोर्ट वह सीधे सीएम को सौंपेंगी। उन्होंने चाका केंद्र के अधीक्षक और वहां की महिला डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश करने की भी बात कही है।



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !