योगी की 'पायलट मोबाइल एेप' बनकर तैयार, अब रेडियो टैक्सी की तरह काम करेंगी एंबुलेंस

Tuesday, September 5, 2017 3:08 PM
योगी की 'पायलट मोबाइल एेप' बनकर तैयार, अब रेडियो टैक्सी की तरह काम करेंगी एंबुलेंस

इलाहाबादः उत्तर प्रदेश की योगी सरकार स्वास्थ्य सेवाओं में एक बड़ा बदलाव करने जा रही है। दरअसल डिजिटल इंडिया की तर्ज पर सरकार एंबुलेंस को रेडियो टैक्सी की तरह संचालित करेगी। इसके लिए तकनीक का सहारा लिया जा रहा है। जो मोबाइल एेप के रूप में नजर आएगा। इसका नाम 'पॉयलट मोबाइल एेप' होगा, जिसे प्रत्येक एंबुलेंस चालक के मोबाइल पर इंस्टॉल किया जाएगा।

बता दें कि योगी सरकार ने एक मोबाइल एेप तैयार कराया है, जिसमें जीपीएस की आधुनिक गुणवत्ता प्रदान करने की क्षमता होगी। यानि की एंबुलेंस में महंगे जीपीएस उपकरण और खर्च को बचाकर सरकार मोबाइल एेप के माध्यम से इसे रेडियो टैक्सी की तरह डिजिटल बना देगी। लखनऊ कंट्रोल रूम में बैठे अधिकारी इस एेप से एंबुलेंस की पल-पल की जानकारी रखेंगे।

वहीं इस एेप से ये पता चलेगा कि कौन सी एंबुलेंस किस स्थान पर है। साथ ही ये भी पता चलेगा कि एंबुलेंस कब खड़ी हुई, कब चली, क्या स्पीड है और कौन से रास्ते पर जा रही है। इतना ही नहीं एंबुलेंस कैसे और किस रास्ते से मरीज तक पहुंची, ये भी नजर आएगा।

इस तकनीक का इस्तेमाल एक तो डिजिटल मुहिम की ओर बड़ा कदम है। वहीं दूसरी तरफ एंबुलेंस सेवा में इससे लापरवाही पर रोक लगेगी। अभी तक 108 और 102 एंबुलेंस चालक सूचना के बाद भी समय से नहीं पहुंचते और देरी या ना पहुंचने के बहाने बना देते हैं, लेकिन अब एेसा नहीं होगा। इस एेप से आम जनता को लाभ मिलेगा। 



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !