न्याय नहीं मिलने से दुखी किसान ने तहसील में किया आत्महत्या का प्रयास, मूक दर्शक बने रहे अधिकारी

Thursday, January 4, 2018 4:06 PM
न्याय नहीं मिलने से दुखी किसान ने तहसील में किया आत्महत्या का प्रयास, मूक दर्शक बने रहे अधिकारी

देवरियाः भले ही प्रदेश में सत्ता बदल गई हो लेकिन एक चीज जो नहीं बदली वो है अधिकारियों की सोच। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जिले में
बैठे अधिकारी कार्रवाई करना तो दूर आम जनता की बात तक नहीं सुनते। जिसके चलते पीड़ित लोग आत्महत्या करने को मजबूर हैं।
PunjabKesari
जानकारी के मुताबिक मामला देवरिया जिले के तहसील रुद्रपुर का है, जहा बीती 26 दिसंबर को तहसील दिवस लगा हुआ था। इस अवसर पर किसान रंगनाथ पांडेय नाम के व्यक्ति ने उपजिलाधिकारी को ज्ञापन सौपा। जिसमें उसकी भूमि पर दबंगों द्वारा  जबरन कब्जा की बात कही गई और उचित कार्रवाई की माग की गई। साथ ही इसमें ये भी लिखा गया, इसपर कार्रवाई ना हुई तो उसमें आत्महत्या करने की बात भी कही गई जिसकी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी।
PunjabKesari
जिसके बाद प्रशासन की तरफ से इस बात का कोई जबाब नही आया जिसके बाद रंगनाथ ने गुरुवार तहसील परिसर में उपजिलाधिकारी दफ्तर के सामने मिट्टी का तेल अपने ऊपर गिराकर आत्महत्या करने का असफल प्रयास किया। लेकिन उपजिलाधिकारी अपनी कुर्सी पर आराम से बैठे रहे। इसके बाद व्यक्ति को रुद्रपुर कोतवाल के आदेश पर थाने पर ले जाया गया।
PunjabKesari
ऐसे में सवाल ये उठता है कि क्या अब जिले के अधिकारियों को जगाने के लिए पीड़ितों को आत्महत्या करनी होगी। ऐसी परम्परा लोकतंत्र में क्या सिख देती है। देखने वाली बात ये है कि अब इन अधिकारियों पर योगी सरकार क्या कार्रवाई करती है। 



अपना सही जीवनसंगी चुनिए | केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन