चलती ट्रेन से लापता हुए 338 श्रमिक, बड़ोदरा से चढ़े थे 1908

punjabkesari.in Wednesday, May 13, 2020 - 11:24 PM (IST)

बांदाः कोरोना वायरस के मद्देनजर लागू देशव्यापी लॉकडाउन में बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर व श्रमिक अपने राज्य की ओर वापसी कर रहे हैं। मगर एक आश्चर्यजनक खबर सामने आई है। जहां यूपी के बांदा पहुंची बड़ोदरा श्रमिक स्पेशल ट्रेन में से रनिंग के दौरान 338 लोग लापता हो गए। बता दें कि इस ट्रेन में 1,908 श्रमिक सवार थे।

338 श्रमिक हुए लापता 
चलती ट्रेन से 1,908 में से 338 लोगों के लापता होने की खबर जैसे ही प्रशासन को लगी हड़कंप मच गया। अब दो राज्यों गुजरात व उत्तर प्रदेश का प्रशासन लापता प्रवासी कामगारों की खोजबीन में जुट गया है। 22 सामान्य डिब्बों की यह ट्रेन गुजरात के बड़ोदरा स्टेशन से मंगलवार को 1,908 प्रवासी मजदूरों को लेकर बांदा के लिए चली थी, जिन्हें वहां बाकायदा स्क्रीनिंग करके ट्रेन में बिठाया गया था।

1,908 की बजाय 1,570 लोग ही उतरे बांदा 
सभी यात्रियों की जानकारी के साथ इसका एक लेटर अपर कलेक्टर बड़ोदरा डीआर पटेल द्वारा स्थानीय प्रशासन को भेजा गया था। जब ट्रेन बांदा पहुंची तो उसमें 1,908 की बजाय 1,570 लोग ही बांदा उतरे। चलती ट्रेन से लोग गायब दिखे। ऐसे में प्रशासन पर भी सवाल खड़े किए जा रहे हैं। वहीं रेलवे प्रशासन सकते में है। वहीं बांदा प्रशासन इस संबंध में गुजरात प्रशासन से संपर्क कर गुमशुदा यात्रियों की जानकारी जुटाने की कोशिश कर रहा है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Author

Moulshree Tripathi

Related News

Recommended News

static