PM मोदी का सपना हुआ साकार, अब हवाई चप्पल पहनने वाला व्यक्ति भी कर रहा हवाई जहाज की यात्रा: योगी

punjabkesari.in Wednesday, Oct 20, 2021 - 05:15 PM (IST)

कुशीनगर: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बौद्ध सकिर्ट की परिकल्पना को साकार किया है। कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुये योगी ने बुधवार को कहा कि यह उत्तर प्रदेश का सौभाग्य है कि भगवान बुद्ध से जुड़ा सर्वाधिक स्थल उत्तर प्रदेश में है। भगवान बुद्ध की राजधानी कपिलवस्तु, ज्ञानोपदेश का केंद्र सारनाथ, जहां उन्होंने चातुर्मास व्यतीत किया वह श्रावस्ती, जहां उन्होंने कथा श्रवण कराया वह कौशांबी, संकिसा और उनकी महापरिनिर्वाण स्थली कुशीनगर, यह सब इसी प्रदेश में हैं। इन स्थलों के विकास के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कटिबद्धता का प्रदेश आभारी है।


उन्होंने कहा कि कुशीनगर भगवान बुद्ध की महापरिनिर्वाण स्थली होने के नाते पूरे विश्व के बौद्ध अनुयायियों के लिए गहरी आस्था व श्रद्धा का केंद्र है। तथागत ने जिस मैत्री व करुणा का संदेश दिया उसके लिए विश्व मानवता सदैव ऋणी है। भारत के इसी मंत्र को आगे बढ़ाते हुए पीएम मोदी ने संयुक्त राष्ट्र में कहा था, ‘‘दुनिया के देशों ने युद्ध दिया है जबकि भारत ने बुद्ध दिया है।'' योगी ने कहां की पूरा उत्तर प्रदेश आजादी के बाद लगातार उपेक्षित रहा। कुशीनगर से शुरू हो रही विकास की नई उड़ान क्षेत्र के पांच करोड़ लोगों के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन आएगा। विकास की इसी कड़ी में सड़क के साथ ही वायुमार्ग से देश-दुनिया के लिए उड़ान प्रारम्भ हो रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 1947 से 2014 तक उत्तर प्रदेश में सिर्फ दो एयरपोर्ट लखनऊ और वाराणसी में फंक्शनल थे। उत्तर प्रदेश की कनेक्टिविटी 15 से 16 शहरों तक की ही थी। आज प्रदेश में कुशीनगर 9वें एयरपोर्ट के रूप में फंक्शनल हुआ है। उत्तर प्रदेश के हवाई अड्डों से 75 प्रमुख शहरों के लिए सीधी हवाई सेवा है। उन्होंने कहा कि उड़ान योजना को लेकर प्रधानमंत्री की मंशा थी कि हवाई चप्पल पहनने वाला व्यक्ति भी हवाई जहाज की यात्रा करें। बेहतर हुई एयर कनेक्टिविटी से यह संभव हुआ है। सीएम योगी ने बताया कि प्रदेश में 11 नए एयरपोर्ट पर काम हो रहा है। नोएडा और अयोध्या में इंटरनेशनल एयरपोर्ट की कार्य प्रक्रिया को युद्ध स्तर पर आगे बढ़ाया जा रहा है।
 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Umakant yadav

Related News

Recommended News

static