वृन्दावन कुंभ में यातायात की चौकस व्यवस्था, तीर्थयात्रियों को नहीं होगी कोई परेशानी

3/5/2021 2:54:59 PM

मथुरा: उत्तर प्रदेश में वृन्दावन कुंभ के दूसरे और तीसरे शाही स्नान में आनेवाले परिक्रमार्थियों की सुविधा के लिए पुलिस प्रशासन ने यातायात की ऐसी व्यवस्था की है कि किसी भी तीर्थयात्री को किसी प्रकार की परेशानी न हो। वृन्दावन के कुंभ में होने वाले शाही स्नान पर संतों के दर्शन करने के लिए जहां अधिकांश तीर्थयात्री उसी दिन आते है जिस दिन शाही स्नान होता है। वहीं कुछ धर्मावलम्बी 3-4 दिन पहले से ही आ जाते है। नौकरी पेशा लोग चूंकि शाही स्नान के दिन अवकाश न होने के कारण नहीं आ सकते इसलिए ऐसे लोग शनिवार और रविवार को ही आते हैं।

पुलिस अधीक्षक (ट्रैफिक) कमल किशोर ने पत्रकारों को बताया कि तीर्थयात्रियों को असुविधा न हो इसलिए इस बार यातायात व्यवस्था की घोषणा पहले से ही कर दी गई है। विभिन्न दिशाओं से वृन्दावन आनेवाले लोगों के लिए उनके वृन्दावन प्रवेश मार्ग पर ही पार्किंग की व्यवस्था की गई है। प्रशासन ने यातायात की नई व्यवस्था आगामी शनिवार 6 मार्च, रविवार 7 मार्च, शाही स्नान 09 मार्च व 13 मार्च के लिए की है। उन्होंने बताया कि एक्सप्रेस-वे से नोएडा की तरफ से आने वाले वाहन जो एनएच 19 से होते हुए गोवर्धन, कोसी, पलवल, फरीदाबाद जाना चाहते है उन वाहनो को राया कट से उतारकर लक्ष्मीनगर तिराहा होते हुए कृष्णापुरी तिराहे से टेंक चौराहा से अपने गन्तव्य स्थान तक जाने दिया जाएगा। 

वृन्दावन कट से आने वाले सभी वाहनों को मण्डी पार्किंग स्थल वृन्दावन में पार्क कराया जायेगा किंतु शनिवार की सुबह: 6 बजे से वृन्दावन कट से आने वाले सभी वाहनों को पशु पैंठ पानीगाँव तिराहा पर पार्क कराया जायेगा जब कि मथुरा की तरफ से वृन्दावन आने वाले सभी वाहनो को पागल बाबा पाकिर्ंग, राही पाकिर्ंग में पाकर् कराया जायेगा। इससे पहले छटीकरा की तरफ से वृन्दावन आने वाले सभी वाहनो को मल्टीलेविल पार्किंग, अन्न पूर्णा पाकिर्ंग में पार्क कराया जायेगा, दोनो पार्किंग भरने पर रायली भारती कट पार्किंग, वैष्णो धाम पार्किंग, गरुड़ गोविन्द पार्किंगमें पार्क कराया जायेगा। इसके आगे यात्रियों / जनता के लिए ई-रिक्शा व टैम्पो से अपने निर्धारित स्थान पर जाने की व्यवस्था की गयी है।

कुम्भ पूर्व वैष्णव बैठक क्षेत्र व बांके बिहारी जी मन्दिर तक के लिये ई-रिक्शा व टैम्पो के संचालन की व्यवस्था' अलग की गई है। उन्होंने बताया कि 'मल्टी लेवल पाकिर्ंग से ई-रिक्शा व टैम्पो से श्रद्धालुओं को कुम्भ पूर्व वैष्णव बैठक क्षेत्र के लिये'जाने की अलग व्यवस्था की गई है। इसके अन्तर्गत मल्टी लेवल पाकिर्ंग से प्रेम मन्दिर तिराहा, सौ फुटा, अटल्ला चैराहा, चुंगी चैराहा, कात्यानी मन्दिर होते हुए इसी रुट से वापस जायेंगे। इसी प्रकार 'सौ शैय्या तिराहा से बाँके बिहारी जी मन्दिर जाने के लिए सौ फुटा तिराहासे प्रेम मन्दिर तिराहा, रमणरेती चैराहा, हरिनिकुंज चौराहा, बिहारी जी कालौनी से वापस घूमकर देव रेजिडेन्सी होते हुए वापस इसी रुट पर आएंगे।

उनका कहना था कि 'सौ शैय्या तिराहा से कुम्भ पूर्व वैष्णव बैठक क्षेत्र जाने के लिए: सौ फुटा तिराहा से अटल्ला चैराहा, चुंगी चैराहा, कात्यानी मन्दिर होते हुए इसी रुट से वापस जाएंगे। इसी क्रम में पशु पैंठ पानीगांव से बांके बिहारी जी मन्दिर जाने के लिए' यमुना पक्का पुल से कैलाश नगर चैराहा , गौरे दाऊजी चैराहा परिक्रमा मार्ग, तराश मन्दिर, जयपुर मन्दिर, सीएफसी चैराहा, भट्ठर भवन होते हुए इसी रुट से वापस जायेंगे तथा. 'पशु पैंठ पानीगाँव से से कुम्भ पूर्व वैष्णव बैठक क्षेत्र जाने के लिए' यमुना पक्का पुल से चामुण्डा मन्दिर तिराहा, परिक्रमा मार्ग, पानीघाट तिराहा परिक्रमा मार्ग , मैत्री घर पाकिर्ंग परिक्रमा मार्ग होते हुए इसी रुट से वापस जायेंगे। उन्होंने बताया कि शाही स्नान एवं शनिवार, रविवार के दिनों में समस्त प्रकार के पासधारी वाहन सहित परिक्रमा मार्ग पर प्रतिबन्धित रहेंगे'। 


Content Writer

Tamanna Bhardwaj

Related News