रायबरेलीः सुधरने का नाम नहीं ले रहे सरकारी बाबू, 5000 की रिश्वत लेते फिर लेखपाल को एन्टी करप्शन की टीम ने दबोचा

punjabkesari.in Tuesday, Sep 27, 2022 - 06:31 PM (IST)

रायबरेली: जनपद में लगातार एंटी करप्शन ब्यूरो द्वारा सरकारी कर्मचारियों को घूस लेते गिरफ्तार किया जा रहा है इसके बावजूद भी सरकारी अधिकारी व कर्मचारी सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं। ताजा मामले में किसान से काम के बदले लेखपाल द्वारा रिश्वत की मांग की जा रही थी। पीड़ित किसान की शिकायत पर एंटी करप्शन टीम ने छापेमारी करते हुए आरोपी लेखपाल को रंगे हाथ दबोच लिया और गुरबक्शगंज थाने में इसका मुकदमा पंजीकृत कराया। खास बात ये है कि लेखपाल भोजपुर क्षेत्र में तैनात था।

ज्ञात हो कि यूपी सरकार का लगातार भ्रष्टाचार के खिलाफ अभियान जारी है। मामला लालगंज तहसील में तैनात लेखपाल का है। यहां जमीन नापने के नाम पर लेखपाल को लखनऊ से आई एंटी करप्शन की टीम ने रंगे हाथ 5000 की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया। घूसखोर लेखपाल मनीष लालगंज तहसील के भोजपुर क्षेत्र में तैनात है। लेखपाल मनीष पीड़ित की जमीन नापने के बदले में पैसे की मांग कर रहा था। इससे दुखी होकर पीड़ित किसान ने एंटी करप्शन विभाग लखनऊ में लिखित शिकायती प्रार्थना पत्र दिया था। उसके बाद पुलिस की शिकायत पर लखनऊ से आई एंटी करप्शन की टीम ने आज लालगंज तहसील के सभागार में लेखपाल मनीष को रंगे हाथों घूस लेते हुए गिरफ्तार किया।

नूरुल हुदा खान इंचार्ज एंटी करप्शन टीम लखनऊ की टीम ने  लेखपाल को गुरबक्श गंज थाने लेकर आई जहां मुकदमा पंजीकृत करा कर आगे की विधिक कार्रवाई शुरू कर दी है। टीम इंचार्ज की माने तो आरोपी लेखपाल को वह अपने साथ लखनऊ ले जाकर कोर्ट में पेश करेंगे जहां आगे की प्रक्रिया न्यायिक अभिरक्षा में भेज कर की जाएगी।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ajay kumar

Related News

Recommended News

static