आजमगढ़: गेम के चक्कर में गंवाए 8 लाख, साइबर अपराधी गिरफ्तार

punjabkesari.in Saturday, Jun 27, 2020 - 04:21 PM (IST)

आजमगढ़: कभी अंडरवल्र्ड की दुनिया तो कभी बाटला हाउस इनकाउंटर को लेकर सुर्खियों में रहने वाला आजमगढ़ इन दिनों साइबर अपराध का हब बना हुआ है। जहां जामतारा से ट्रेन्ड होकर निकले अपराधी अलग-अलग तरीकों से साईबर क्राइम कर रहे हैं। इस बार इनके निशाने पर एक शिक्षक का बेटा चढ़ा है जिसे पब्जी व फ्री फायर गेम में हैकिंग के नाम पर ना सिर्फ 8 लाख रुपये की ठगी कर लिया बल्कि एक पिता के सपनों को भी पलक झपकते चकनाचूर कर दिया। फिलहाल इस शातिर अपराधी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

PunjabKesari
मामला आजमगढ़ जिले के बिलरियागंज क्षेत्र के इस्माइलपुर गोरिया गांव का है। यहां के निवासी हरिबंश लाल श्रीवास्तव शिक्षक हैं जो अपनी पुत्री की शादी के लिए 8 लाख रूपये जमा करके रखे थे। कोरोना की वजह से लॉक डाउन लग जाने के शादी टालनी पड़ी। उनका 12 वर्षीय पुत्र दीप रंजन कक्षा 6 का छात्र है। उसे मोबाइल फोन पर पबसी, कोडा साफ्ट, फ्री फॉयर आदि ऑनलाइन गेम खेलने का शौक है। वह खाली समय गेम खेलने में ही बिताता है। 

PunjabKesari
पुलिस अधीक्षक प्रो. त्रिवेणी सिंह के मुताबिक दीपरंजन के मोबाइल फोन पर एक दिन एक साइबर अपराधी ने वाट्सएप मैसेज किया। बच्चे ने रुचि दिखाई तो दोनों में दोस्ती हो गई। इसके बाद साइबर अपराधी ने बच्चे के गेम खेलने के शौक को हथियार के रूप में इस्तेमाल किया। धीरे-धीरे बच्चे को एडवांस गेम खेलने का लालच देता रहा और कहा कि वह इससे काफी रुपए कमा सकता है। दीपरंजन ने पैसा कमाने के चक्कर में गेम खरीदनेे के लिए पिता के डेबिट कार्ड का डिटेल के साथ ही मोबाइल फोन नंबर भी उसे दे दिया। फिर साइबर अपराधी ने उससे ओटीपी भी मांग ली। इसके बाद वह 10 अप्रैल से 12 मई के मध्य पेटीएम अकाउंट व अन्य माध्यम से धीरे-धीरे कर आठ लाख रुपए उड़ा दिया। 

हाल में जब शिक्षक को बैंक एकाउंट खाली होने की जानकारी हुई तो उसके होश उड़ गए। उसने इसकी शिकायत पुलिस से की और पुलिस ने मामला दर्जकर जांच शुरू की तो आरोपी पुलिस की गिरफ्त में आ गया। पकड़ा गया आरोपी सागर सिंह आगरा जिले का रहने वाला है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Ajay kumar

Related News

Recommended News

static