बलिया कांड: मुख्य आरोपी फरार भाई गिरफ्तार, खुलकर आरोपियों के पक्ष में आए भाजपा विधायक

punjabkesari.in Friday, Oct 16, 2020 - 03:08 PM (IST)

बलिया: उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के रेवती कांड के आरोपियों में से एक को पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार किया गया व्यक्ति मामले के मुख्य आरोपी का भाई है। अपर पुलिस महानिदेशक वाराणसी ब्रज भूषण ने शुक्रवार को पत्रकारों को बताया कि पुलिस ने इस मामले में आरोपी नरेंद्र प्रताप को गिरफ्तार कर लिया है। नरेन्द्र प्रताप रेवती कांड के मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह डब्ल्यू का बड़ा भाई है। अधिकारी ने बताया कि आरोपियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। बलिया के जिलाधिकारी हरि प्रताप शाही ने बताया कि आरोपियों के असलहा लाइसेंस को निरस्त करने की कार्रवाई की जायेगी। 

PunjabKesari

मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह के बचाव में खुलकर सामने आए बीजेपी विधायक
वहीं दूसरी ओर भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह, रेवती कांड के मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह के बचाव में खुलकर सामने आ गए हैं। अपने विवादित बयानों को लेकर हमेशा सुर्खियों में रहने वाले जिले के बैरिया विधानसभा क्षेत्र के विधायक ने शुक्रवार को अपने आवास पर संवाददाताओं से बातचीत में दुर्जनपुर ग्राम में कल सरकारी सस्ते गल्ले के दुकान आवंटन को लेकर आयोजित बैठक के दौरान हुई घटना को दुर्भाग्यपूर्ण एवं दुखद करार दिया। भाजपा विधायक ने इसके साथ ही प्रशासन पर न्याय का गला घोंटने का आरोप लगाया। उन्होंने रेवती कांड के मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह का बचाव करते हुए घटना को क्रिया के विरूद्ध प्रतिक्रिया करार दिया। 

PunjabKesari

धीरेंद्र प्रताप ने आत्मरक्षा में चलाई गोली: सुरेंद्र सिंह 
सुरेंद्र सिंह ने कहा कि धीरेंद्र प्रताप ने आत्मरक्षा में गोली चलाई है, वरना उसके परिवार तथा उसके सहयोगी दर्जनों लोग मार दिये गए होते। उन्होंने इसके साथ ही कहा कि आत्मरक्षा के लिए असलहा लाइसेंस दिया जाता है। विधायक ने कहा कि धीरेंद्र प्रताप के समक्ष मरने-मारने के अलावा कोई दूसरा विकल्प नही रह गया था। भाजपा विधायक ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से इस मामले की सीबीसीआईडी जांच की मांग की है। उन्होंने प्रशासन पर एक पक्षीय कार्रवाई करने का आरोप लगाते हुए कहा है कि दूसरे पक्ष की छह महिलाएं घायल हुई हैं, लेकिन उनकी पीड़ा कोई नही देख रहा। 

PunjabKesari

8 नामजद सहित कुल 33 के खिलाफ एफआईआर
डीआईजी (आजमगढ़) भी बलिया में कैंप कर रहे हैं। डीआईजी सुभाष चन्द्र दुबे ने कहा कि मुख्य आरोपी धीरेंद्र सिंह समेत 8 नामजद और 25 अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि इस केस में पुलिस की लापरवाही सामने आई है। मौके पर पकड़े जाने के बाद भी मुख्य आरोपी धीरेंद्र सिंह भाग निकला।डीआईजी ने दावा किया कि सभी नामजद आरोपियों को पुलिस जल्द ही गिरफ्तार कर लेगी। मामले में लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी। उन्होंने बताया कि खुली पंचायत में मौजूद अफसरों के खिलाफ शासन ने कार्रवाई की है। मामले में आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नजीर बनेगी। 

क्या है मामला?
गौरतलब है कि जिले के रेवती थाना क्षेत्र के दुर्जनपुर ग्राम में बृहस्पतिवार को सरकारी सस्ते गल्ले के दुकान के चयन के दौरान एक व्यक्ति की हत्या कर दी गयी थी और इस घटना का मुख्य आरोपी अब भी पुलिस की पकड़ से बाहर है। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Ajay kumar

Related News

Recommended News

static