CRPC की कार्रवाई से पहले BSP नेता ने CJM कोर्ट में किया सरेंडर, इंस्पेक्टर की हत्या का आरोप

punjabkesari.in Wednesday, Jul 14, 2021 - 07:30 PM (IST)

फर्रुखाबाद: जिले में बसपा नेता अनुपम दुबे के फतेहगढ़ स्थित कसरट्टा मोहल्ले के आवास पर जीआरपी ने 82/83 की कार्रवाई की गई है । अनुपम दुबे मेरठ निवासी इंस्पेक्टर रामनिवास यादव की हत्या में नामजद हैं। जीआरपी पुलिस आगरा की कारवाई के महज 20 घंटे बाद सीजेएम कोर्ट फतेहगढ़ में बीएसपी नेता डॉ० अनुपम दुबे ने आत्मसमर्पण कर दिया। सीजीएम कोर्ट फर्रुखाबाद में बीएसपी नेता ने एक अन्य हत्या के  मुकदमे में सरेंडर कर जीआरपी पुलिस आगरा की पकड़ से दुरी बना ली है। दूसरी ओर  आगरा पुलिस को मिले सीआरपीसी 82 ,83 , सीएमएम कोर्ट कानपुर का आदेश का अनुपालन तब तक कराने में जुटी है जब तक सीएमएम कोर्ट की तरफ से कोई अग्रिम आदेश जीआरपी पुलिस को प्राप्त नहीं हो जाता है। फिलहाल पुलिस बीएसपी नेता की सभी सम्पति का आकलन करने में जुटी है। सूत्रों के मुताबिक बीएसपी नेता के पास करोडो की सम्पति का पुलिस ने आकलन किया है बही जीआरपी ने 25 हजार का इनाम भी बीएसपी नेता पर कर रखा था।
PunjabKesari
जानकारी के मुताबिक चार मई 1996 को पैसेंजर ट्रैन के गार्ड आरके बाजपेयी ने जीआरपी थाना अनवरंगज कानपुर में सूचना दी कि बोगी में एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। शव की शिनाख्त जनपद मेरठ के थाना अमीनगर सराय के गांव लाहौर सराय निवासी पुलिस इंस्पेक्टर रामनिवास यादव के रूप में की गई। जीआरपी थाने में दर्ज मुकदमे में  विवेचना में नेम कुमार बिलइया, अनुपम दुबे व कौशल दुबे के नाम प्रकाश में आए थे। 24 जुलाई 1996 को तीनों आरोपियों के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की गई थी। इसमें नेम कुमार बिलइया मुठभेड़ में मारा गया था। वहीं कौशल दुबे की बाद में मौत हो गई थी।
PunjabKesari
न्यायालय ने वर्ष 2003 में डॉ. दुबे के खिलाफ एनबीडब्ल्यू जारी किया था और वर्ष 2008 में 82/83 का आदेश दिया था लेकिन तब कार्रवाई नहीं हो पायी थी। डा. दुबे के हाजिर न होने पर कानपुर नगर के मुख्य महानगर मजिस्ट्रेट ने फिर सात जुलाई 2021को उनके खिलाफ एनबीडब्ल्यू व धारा 82/83 के तहत कुर्की वारंट जारी किया। इस आदेश पर मंगलवार को आगरा जीआरपी सीओ हरिश्चंद्र बड़ी पुलिस बल के साथ फतेहगढ़ स्थित डॉ. अनुपम के आवास पर पहुंचे। उनकी गैरमौजूदगी में पुलिस ने कार्रवाई की जानकारी घर वालों को दी और कुर्की की कार्रवाई शुरू की।
PunjabKesari
जीआरपी पुलिस लगभग कल 2 बजे डॉ० अनुपम दुबे के आवास पर पंहुची| जिसके बाद कार्यवाही शुरू हुई| देर शाम आठ बजे तक पुलिस आवास के भीतर कुर्की की कार्यवाही करती रही। रात होने के चलते कार्रवाई को विराम दे दिया गया। पुलिस कार्रवाई में आगरा जीआरपी सीओ के साथ आयी पुलिस और पीएसी बल घर के आस पास सुरक्षा के भारी फोर्स तैनात रहा। आज सुबह 11 बजे के बाद आगरा जीआरपी पुलिस टीम फिर आवास  पर पहुंची और 83 सीआरपीसी की कार्यवाही शुरू की सम्पति का बिरण तैयार किया गया। पूरे मामले पर जीआरपी आगरा के एसपी ने समेत फर्रुखाबाद एसपी ने बताया कि हत्या के मामले 82, और 83 की कार्रवाई के प्रचलित थी इसी दौरान पुराने दूसरे हत्या के मामले में सीजेएम कोर्ट में सरेंडर कर दिया है फिलहाल इनके पास करोडो की सम्पति होने का पुलिस ने आकलन किया है। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramkesh

Related News

Recommended News

static