'ब्राह्मण सम्मेलन' पर BJP सांसद का तंज, कहा- कांशीराम ने कहा था राम जन्मभूमि पर बना देना चाहिए शौचाल

punjabkesari.in Sunday, Jul 25, 2021 - 06:04 PM (IST)

गोंडाः कुश्ती महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष व भारतीय जनता पार्टी के कैसरगंज सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने बसपा द्वारा आयोजित अयोध्या में ब्राह्मण व साधु संत के सम्मेलन पर तंज कसते हुए कहा कि सतीश मिश्रा ब्राह्मणों का आवाहन कर रहे हैं। वह खुद बताएं अब तक कितने ऐसे ब्राह्मण नेता हैं जिनको पार्टी ने बिना पैसा लिए टिकट दिया। उन्होंने कहा कि अभी तक बसपा का टिकट दो करोड़ में बिकता था। अब जब दावेदार नहीं बचे हैं। टिकट खरीदने के लिए तो सतीश मिश्र जी ब्राह्मण सम्मेलन कर टिकट बेचने का इंतजाम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सतीश मिश्र ने कहां है कि उत्तर प्रदेश की सौ ऐसी विधानसभा सीटें हैं। जिन पर ब्राह्मणों का वर्चस्व है। क्या ब्राह्मण सम्मेलन के अगुआ इस बात की गारंटी ले सकते हैं। इस बार ब्राह्मण नेताओं को बिना पैसे के टिकट मिल जाएगा।

उन्होंने कहा कि बरसात के सीजन में जैसे मेंढक बोलने लगते हैं। ठीक वैसे ही 4 सालों तक बहुजन समाजवादी पार्टी का कोई अता पता नहीं था। अब चुनाव आते ही इनके नेता सम्मेलन का आयोजन करने लगे हैं। उन्होंने सवाल खड़ा किया कि क्या जिन साधु-संतों को सतीश मिश्र जी ने सम्मेलन में बुलाया था। उन्हें मायावती से मिलने के लिए बिना जूता चप्पल उतारे मिलाया जा सकता है। यह वहीं बसपा पार्टी है। जिसके नेता कांशीराम ने कहा था कि राम जन्म भूमि पर ना तो मंदिर बनेगा और ना ही मस्जिद बनेगी। इस पर शौचालय बनवा देना चाहिए। पार्टी के संस्थापक के बयान पर बहुजन समाजवादी पार्टी अपना रुख स्पष्ट करें।

बीजेपी सांसद ने की भारतीय पहनवानों की तारीफ 
इतना ही नहीं उन्होंने भारतीय पहलवान पर तारीफ करते हुए कहा कि भारतीय पहलवान विश्व स्तर पर दिन प्रतिदिन नए इतिहास रच रहे हैं। हंगरी की राजधानी बूडा पेस्ट में आयोजित विश्व स्तरीय कैडेट कुश्ती प्रतियोगिता में भारतीय पहलवानों ने तीन स्वर्ण एक रजत 3 कांस्य पदक जीत कर भारत को प्रथम स्थान दिलाया है।उन्होंने आगे कहा कि एक समय ऐसा था जब विश्व स्तर की प्रतियोगिता होती थी। तो भारत को एक मेडल मिल जाता था। वर्ष 2012 में देश को दो मेडल मिले। मुझे अब अपने देश के इन पहलवानों पर गर्व है। जिन्होंने देश को पुरुष चैंपियनशिप में प्रथम स्थान दिलाया। बीजेपी सांसद ने कहा कि महिलाओं में भी देश का प्रथम स्थान आता, लेकिन एक महिला पहलवान को कुश्ती के दौरान चोट लग जाने के कारण प्रथम स्थान नहीं मिल सका। फिर भी हम दूसरे स्थान पर रहे।

बृजभूषण शरण सिंह ने कहा कि कुश्ती संघ में आने के बाद वह लगातार सुधार करते रहे। पिछले 2 वर्षों से हमने रैंकिंग सिस्टम शुरू किया है। जिसमें देश के प्रथम श्रेणी के पहलवानों को 30 लाख रुपए प्रतिवर्ष जेब खर्च के रूप में दिए जाते हैं। इसके अतिरिक्त टॉप 10 की श्रेणी में आने वाले पहलवानों को भारत सरकार द्वारा सारी व्यवस्था मुहैया कराई जाती है। हम इन्हें विदेशी कोच भी देते हैं। इसी तरह प्रथम श्रेणी के पहलवानों को 30 लाख द्वितीय श्रेणी के पहलवानों को 20 लाख तृतीय को 15 लाख तथा चतुर्थ को 10 लाख जेब खर्च के रूप में दिया जाता है। वर्ष 2028 में होने वाला विश्व स्तरीय कुश्ती चैंपियनशिप प्रतियोगिता के लिए भारतीय कुश्ती संघ पहलवानों को विशेष प्रशिक्षण दे रहा है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tamanna Bhardwaj

Related News

Recommended News

static