लखनऊ: भाजपा ने ‘समावेशी राजनीति'' के पथ पर निरंतर बढ़ने का संकल्प लिया

punjabkesari.in Sunday, May 29, 2022 - 12:40 PM (IST)

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की उत्तर प्रदेश इकाई ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कुशल नेतृत्व और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में प्रदेश को विकास की नयी ऊचाईयों पर ले जाने के संकल्प की पूर्ति के लिये समावेशी राजनीति के पथ पर निरंतर आगे बढ़ते रहने की प्रतिबद्धता जतायी है।        
भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की शनिवार को हुयी बैठक में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और मुख्यमंत्री योगी ने हाल ही में संपन्न हुए विधान सभा चुनाव में पार्टी की ऐतिहासिक जीत का श्रेय संगठन के समर्पित कार्यकर्ताओं को दिया। उन्होंने समाज के सभी वर्गों के उत्थान को सुनिश्चित करने वाली नीतियों पर आधारित भाजपा के संकल्प पत्र को फलीभूत बनाने का विश्वास व्यक्त किया।  सिंह ने अपने अध्यक्षीय भाषण में कहा, ‘‘इस शानदार जीत के हकदार भाजपा संगठन के तमाम देवतुल्य कार्यकर्ता हैं, जिनके अथक परिश्रम से भाजपा को विजयश्री मिली हैं। अब हमारी नव-निर्वाचित सरकार अपने नये बजट के साथ लोक कल्याण संकल्प पत्र को गीता की तरह पूज्य मानकर गांव-गांव विकास की नई धारा बहाने को तैयार हैं।'' उन्होंने कहा, ‘‘अब मेरा मानना है कि, समावेशी राजनीति की जिस सीढ़ी पर प्रदेश की भाजपा ने चढ़ना आरंभ किया है। वह रूकना नहीं चाहिये। हमको इस पथ पर निरंतर चलते रहना है। बिना थके, बिना रूके, अवरोधों को ढकेलते हुये। हम रहें न रहें, लेकिन यह मशाल जो हमने मिलकर जलाई है, वह निरंतर प्रज्ज्वलित रखनी है।''     

उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से इस लक्ष्य की पूर्ति के लिये प्राणपण से जुटने का आह्वान किया। उन्होंने कहा, ‘‘इस अबाध यात्रा में मुझसे भी कुछ गलतियां हुईं होंगी। मैंने भी गुस्सा जताया होगा। किसी का मन दुखा होगा तो कोई कुछ न मिलने से दुखी होगा, लेकिन हम सब एक ध्येय के लिये कार्यरत हैं। यह ध्येय पूज्य है। इसी के सहारे हमें हर समय गतिमान रहना है।'' सिंह ने संकल्प व्यक्त किया कि अपनी आस्था, विश्वास और पुरूषार्थ से उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाते हुए भारत माता की समृद्दि और सुरक्षा को सुनिश्चित करते हुए उसकी प्रसिद्धि में वृद्धि करने के लिए पूरी क्षमता से फिर सभी कार्यकर्ता एकजुट होेकर काम करेंगे।              

इस मौके पर उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और बृजेश पाठक के अलावा योगी सरकार के मंत्री एवं पार्टी के वरिष्ठ नेता मौजूद थे। इस दौरान योगी ने अपने संबोधन में कहा कि 37 वर्षों के बाद उप्र में एक ही दल की सरकार की वापसी हुयी है। इसके लिये उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं का अभिनंदन करते हुये कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में सोमवार को आठ वर्ष का कार्यकाल पूरा हो रहा है। योगी ने कहा कि इन आठ वर्षों में देश एक नई दिशा में आगे बढ़ा है। उन्होंने उप्र सरकार की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए कहा कि तीन वर्ष कोरोना महामारी के प्रबंधन में लगे, इसके बावजूद उप्र आज स्वच्छ भारत मिशन सहित एक दर्जन से अधिक केंद्रीय योजनाओं को लागू करने में पहले स्थान पर है। योगी ने कहा कि केन्द्र और राज्य में भाजपा सरकार के कामकाज पर जनता ने विश्वास जताया और 2022 का जनादेश जनहित के कामों को जनता की स्वीकार्यता का स्पष्ट संकेत है। यह जनतादेश इस बात का संकेत है कि जनता ईमानदार सरकार का साथ देती है।        

योगी ने कहा कि ‘एक जिला एक उत्पाद' योजना (ओडीओपी) से उप्र को एक्सपोटर् हब बनाने में कामयाबी मिली है। इसका नतीजा है कि 1.56 लाख करोड़ रुपये से अधिक का निर्यात उत्तर प्रदेश से हो रहा है। उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक क्षेत्र में उप्र के अग्रणी बनने का दावा करते हुए कहा कि उप्र ‘ईज आफ डूइंग बिजनेस' में 14वें से दूसरे स्थान पर पहुंचा है। परिणामस्वरूप निवेशक अब चीन को छोड़कर भारत आ रहे हैं।योगी ने समावेशी सत्ता संचालन का जिक्र करते हुए कहा कि सभी वर्गों की सहमति और सहयोग से प्रदेश में शोरगुल से मुक्ति मिली है। प्रदेश भर में माइक उतारे गये , यह नये भारत का नया उत्तर प्रदेश है। योगी ने कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि, ‘‘2024 के लिए हमें अभी से लगना होगा, केन्द्र और राज्य की बात लेकर घर-घर पहुंचना है। हमें अपना मन बड़ा करना होगा, क्योंकि टूटे मन से कोई खड़ा नहीं होता, छोटे मन से कोई बड़ा नहीं होता।''


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Imran

Related News

Recommended News

static