कॉलेज संचालक और पत्नी की निर्मम हत्या, स्कूल विवाद में हत्या की आशंका

punjabkesari.in Wednesday, Jan 19, 2022 - 08:05 PM (IST)

औरैया: जिले में इंटर कॉलेज के संचालक और उनकी पत्नी की हत्या कर दी गई। दोनों का शव कमरे में मिला है। दोनों स्कूल की तीसरी मंजिल में रहते थे। संचालक का शव बेड पर पड़ा था। उनकी पत्नी का शव जमीन पर पड़ा था। दोनों के गले पर चोट के निशान हैं। जिससे गला दबाकर हत्या की आशंका जताई जा रही है। बताया जा रहा है कि बदमाश स्कूल के पीछे वाले रास्ते से ऊपर पहुंचे होंगे। वहीं पर उन लोगों ने घटना को अंजाम दिया होगा। आशंका जताई जा रही कि स्कूल के विवाद में ही हत्या हुई है। पुलिस को कमरे में टीवी चलता मिला है। कहा जा रहा है कि हत्यारों ने हत्या के समय टीवी चला दी थी, जिससे आवाज बाहर न जा पाए।

PunjabKesari

गेट न खुलने पर पुलिस को दी गई सूचना
गेट नहीं खुलने पर पुलिस को दी सूचना कोरोना और ठंड के कारण स्कूल बंद चल रहे हैं। जिस वजह से सुबह तक किसी को कुछ पता ही नहीं चला। करीब 11 बजे एक शिक्षक लिखापढ़ी के मामले में स्कूल गया। जब वो स्कूल संचालक के आवास पर गया, तो काफी देर तक गेट नहीं खुला। जिसके बाद उसने पुलिस को सूचना दी। मौके पर एसपी, सीओ सहित भारी पुलिस फोर्स पहुंच गया। मकान के अंदर किसी को नहीं जाने दिया जा रहा। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

PunjabKesari

स्कूल के पीछे के रास्ते से घुसे बदमाश
बिधूना निवासी गंधर्व सिंह (82) एसजीएस इंटर कॉलेज के संचालक हैं। वो अपनी पत्नी कमला देवी (74) के साथ स्कूल की तीसरी मंजिल पर रहते हैं। उनका पोता जम्मू के सैनिक स्कूल में डॉक्टर है। बेटा और बहू भी जम्मू में ही रहते हैं। बुजुर्ग दंपति यहां अकेले रहते हैं। अनुमान है कि रात में बदमाश स्कूल के पीछे के रास्ते से घुस गए और दोनों की गला दबाकर हत्या कर दी। घटना के बाद मौके पर लोगों की भीड़ जमा हो गई। पुलिस ने घर को चारों तरफ से किया सील सूचना पर पहुंची पुलिस ने जब गेट खोला, तो गंधर्व सिंह का शव बेड पर पड़ा था और कमला देवी का शव जमीन पर पड़ा था। गले में निशान होने के कारण गला और मुंह दबाकर हत्या किए जाने की आशंका है। एसपी अभिषेक वर्मा कई पुलिस अधिकारियों के साथ मौके पर पहुंचे हैं।

PunjabKesari
पारिवारिक विवाद हो सकता है हत्या का कारण
पुलिस ने मकान को चारों तरफ से सील कर सभी की एंट्री बंद कर दी है। फोरेंसिक टीम को बुलाया गया है। तब तक कोई भी मकान के अंदर नहीं जा सकता है। मामले को कई लोग पारिवारिक विवाद और साजिश बता रहे हैं। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि तथ्य जुटाने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है, जांच जारी है।गंधर्व सिंह के एक भाई की 13 साल पहले हत्या हो चुकी है। जिसमें पारिवारिक रंजिश सामने आई थी। इसके बाद 2006 में एक बेटे का शव रेलवे ट्रैक पर मिला था। उसमें भी हत्या की आशंका जताई गई थी, लेकिन पुलिस ने आत्महत्या बताकर मामला बंद कर दिया था। पूर्व प्रधानाचार्य गंदर्भ सिंह यादव कन्नौज के लुलुइया बलनपुर में स्थित इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य रहे थे। साल 2000 में वो सेवानिवृत्त हुए थे। इस दौरान उन्होंने बिधूना में एसजीएस विद्यालय की स्थापना की थी। वो उसके प्रबंधक भी थे। वो पत्नी समेत विद्यालय परिसर में ही रहते थे।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramkesh

Related News

Recommended News

static