CM योगी व मोहन भागवत पर अभद्र टिप्पणी कर फंसी पंजाबी सिंगर हार्ड कौर, देशद्रोह का मामला दर्ज

6/20/2019 3:29:48 PM

लखनऊः उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत पर आपत्तिजनक टिप्पणी करना पंजाबी सिंगर हार्ड कौर को महंगा पड़ गया। अधिवक्ता शशांक शेखर त्रिपाठी की तहरीर पर उनके खिलाफ आईटी एक्ट के तहत देशद्रोह का मामला दर्ज किया गया है।
PunjabKesari


अधिवक्ता शशांक का आरोप है कि, हार्ड कौर के नाम से सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्मों पर बने एकाउंट पर भागवत व मुख्यमंत्री योगी के प्रति अभद्र टिप्पणी करते हुए पोस्ट की गई है। इस पोस्ट से आमजन मानस की भावना को ठेस पहुंची हैं। शशांक की तहरीर पर कैंट पुलिस ने धारा-153 A, 124A, 500, 505 व 66 आईटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया है। शशांक ने बताया इस शिकायत को सीएम के शिकायत पोर्टल, पीएमओ, डीजीपी, एडीजी सभी को भेजा गया है। साथ ही मेल भी किया गया है।


PunjabKesari


पोस्ट पर कमेंट करने वालों को दीं गालियां
हार्ड कौर ने मोहन भागवत को जातिवादी बताते हुए देश में हुई आतंकी घटनाओं के लिए भी आरएसएस और उन्हें जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने लिखा कि 26/11 का मुंबई हमला हो या पुलवामा अटैक सारी समस्याओं की जड़ एक ही है। एक अन्य पोस्ट में हार्ड कौर ने Who killed Karkare नामक किताब के फ्रंट पेज की तस्वीर के साथ लिखा है कि यह आरएसएस ने किया। साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ भी आपत्तिजनक भाषा का प्रयोग किया है। हार्ड कौर ने अपनी पोस्ट पर कमेंट करने वालों को भी अभद्र भाषा में भद्दी गालियां दी हैं।


PunjabKesari


कौन है हार्ड कौर
तरुण कौर ढिल्लन उर्फ हार्ड कौर एक ब्रिटनी-भारतीय रैपर और हिप-हॉप गायिका हैं। वह हिंदी सिनेमा मे बतौर अभिनेत्री और पार्श्व गायिका के रूप में भी सक्रिय हैं। कौर ने सबसे पहले 'एक ग्लासी' गाना गाया, जो यूके के चार्टबस्टर में हिट पर था। उसके बाद साल 2007 में श्रीराम राघवन की फिल्म 'जॉनी गद्दार' के लिए कौर ने 'पैसा फेंक' गाना गाया। कौर का पहला सोलो एल्बम 'सुपरवोमेन' 2007 में आया। 2008 में कौर ने यूके म्यूजिक अवार्ड में बेस्ट फीमेल एक्ट का अवार्ड जीता।


Deepika Rajput