सपा के ट्विटर अकाउंट से गोरखनाथ मठ को लेकर किया गया विवादित ट्वीट, पत्रकार गिरफ्तार

punjabkesari.in Sunday, Nov 27, 2022 - 01:01 PM (IST)

लखनऊः यूपी के लखनऊ जिले में समाजवादी पार्टी के मीडिया सेल के ट्विटर अकाउंट पर सांप्रदायिक नफरत फैलाने के आरोप में एक स्वतंत्र पत्रकार को गिरफ्तार किया गया है। दरअसल पत्रकार मनीष पांडे की तहरीर पर हजरतगंज पुलिस ने अनिल यादव को गिरफ्तार किया है। वहीं, सपा का कहना है कि पत्रकार अनिल यादव का उनके ट्विटर अकाउंट से कोई लेना-देना नहीं है।

जानें क्या है पूरा मामला
बता दें कि 20 नवंबर को समाजवादी पार्टी के मीडिया सेल से गोरखनाथ मठ के बारे एक विवादित पोस्ट शेयर की गई थी। जिसके बाद 23 नवंबर को एक पत्रकार मनीष पांडे ने इस बात की शिकायत हजरतगंज पुलिस थाने में दर्ज करवाई थी, जिस पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने पत्रकार अनिल यादव को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। वहीं, लखनऊ के सहायक पुलिस आयुक्त अरविंद कुमार वर्मा ने बताया कि अनिल ने समाजवादी पार्टी के ट्विटर अकाउंट का इस्तेमाल कर राजनीतिक उद्देश्य से गोरखनाथ मठ पर हमला किया है। इतना ही नहीं इससे पहले भी कई बार सपा के अकाउंट से गोरखनाथ मठ पर विवादित पोस्ट शेयर किए है।

दरअसल पत्रकार मनीष पांडे के द्वारा दर्ज की गई शिकायत में कहा गया है कि गोरखपुर मठ करोड़ों हिंदुओं की आस्था का केंद्र है। इसलिए  मठ को राजनीति में नहीं घसीटा जाना चाहिए और यह ट्वीट 5, कालिदास मार्ग (सीएम आवास) तक ही सीमित होना चाहिए। जिसके बाद से इस ट्विटर अकाउंट ने मेरे खिलाफ आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया। इसके बाद मनीष ने इस बात की तहरीर हजरतगंज पुलिस को दी।

'अनिल का सपा मीडिया सेल के ट्विटर हैंडल से कोई लेना-देना नहीं'- राजेंद्र चौधरी
वहीं, सपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा कि अनिल यादव का सपा मीडिया सेल के ट्विटर हैंडल से कोई लेना-देना नहीं है, वह एक पत्रकार हैं। साथ ही उसी ट्विटर अकाउंट से ट्वीट कर सपा ने लिखा कि अनिल यादव को तुरंत रिहा कर घर भेजा जाना चाहिए। भाजपा सरकार लोकतंत्र की हत्या कर रही है और संविधान का अपमान कर रही है। अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता प्रत्येक नागरिक का संवैधानिक अधिकार है। इसके साथ ही एक अन्य ट्वीट कर सपा ने लिखा कि, 'पत्रकार अनिल यादव अपने यूट्यूब चैनल के जरिए लोगों पर हो रहे अत्याचार का पदार्फाश कर रहे थे, इससे नाराज होकर भाजपा ने उन्हें असंवैधानिक तरीके से गिरफ्तार करने के लिए प्रशासन का सहारा लिया है।'


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Harman Kaur

Related News

Recommended News

static