हौसलों की उड़ान: जज्बे से दिव्यांगता को हराया… अब अपने ‘हुनर के दीयों’ से रोशन करेंगे संगम नगरी के घर

punjabkesari.in Tuesday, Nov 02, 2021 - 04:32 PM (IST)

प्रयागराज: पूरे देश में दीपावली पर्व को लेकर तैयारियां जोरों पर है, ऐसे में मूक बधिर और दिव्यांगों की एक टीम इस बार भी आत्मनिर्भर की मिसाल पेश कर रही है। पूरे देश मे दीपावली को लेकर बाजार मार्केट में सभी लाइट, झालर, मोमबत्तियां और तरह तरह के सामानो से सुसज्जित है लेकिन प्रयागराज की दिवाली इस बार भी बेहद खास और अहम है, जो त्योहार के साथ ही लोगों के बीच एक प्रेरणा का कार्य कर रही है। प्रयागराज में दीपावली को खास और अहम बनाने के लिए मूक बधिर और दिव्यांग लोगों के द्वारा दीवाली से जुड़ी सामग्री बनायी गई है जो बाजारों की रौनक बढाये हुए है इसमें कई तरह के फूलों, कार्टून, नाव और कई अन्य चीजों की तरह मोमबत्तियां डिजाइन की गई है, जो हर किसी को भी आश्चर्यचकित कर दे रहा है कि ऐसे लोग कैसे इतनी अच्छी मोमबत्तियां तैयार कर रहे हैं।

PunjabKesari
दिमागी तौर से विक्षिप्त और शरीर से दिव्यांग ये लोग बीते 25 दिनों से दीवाली से जुड़े सजावटी सामानों को बना रहे हैं। इन लोगों द्वारा बनाई गई मोमबत्तियों को लोग खूब पसंद भी कर रहे हैं। महगाई को ध्यान में रखते हुए इन मोमबत्तियों की कीमत 2 रुपय से 15 रुपय तक कि है। विक्षिप्त और दिव्यांग लोगो के द्वारा बनाई गई सामग्रियों की बिक्री के लिए एक स्टाल भी लगाया गया है जहां इनकी कला की लोग जमकर तारीफ कर रहे है। टीम लीडर श्रीनारायण यादव जो खुद दोनों हाथों से दिव्यांग है उनके द्वारा शुरू हुई यह कोशिश को अब 3 साल हो रहे हैं। उनकी टीम में सभी बच्चे दिव्यांग और मूक बधिर हैं लेकिन सही दिशा निर्देश दिए जाने के बाद उन्होंने अपनी कला की अनोखी झलक समाज के सामने पेश की है।

PunjabKesari
खास बात यह है कि इस बार लगातार महंगाई बढ़ रही है लेकिन उसके बावजूद भी इन लोगों ने पिछले साल वाला ही दाम रखा है। जितने लोग भी इनके द्वारा बनाई हुई सामग्रियों को खरीदने आ रहे हैं वह आश्चर्यचकित तो हो ही रहे हैं साथ ही साथ जमकर सराहना कर रहे हैं और लोगों से अपील कर रहे हैं कि इनके द्वारा बनाई गई सामग्रियों को वह जरूर खरीदें ताकि इनका मनोबल और आत्मविश्वास और बढ़े।

PunjabKesari
मानसिक रूप से विक्षिप्त लोगो द्वारा बनाई जा रही दीवाली की सामग्रियों की जनकारी लेने के लिए हमारी टीम प्रयागराज के छोटा बघाड़ा  पहुची। वहां पर हैरान कर देने वाली तस्वीर देखने को मिली, वहां मूक बधिर और दिव्यांग लोगों की एक टीम दीवाली के सजावटी सामानों को तैयार कर रहे थे। हमारी टीम ने देखा कि ये सभी लोग मोम को पिघला कर धागे की कटाई कर रहे और एक सांचे की सहायता से इन मोमबत्तियों को तैयार कर रहे थे और ये वही मोमबत्तियां थी जो यहाँ के बाजारों की शोभा बढ़ा रही है। इन लोगों की काबिलियत को निखारने का काम किया है श्रीनारायण यादव ने जो खुद दोनो हाँथ न होने से दिव्यांग (विकलांग) है।

PunjabKesari
श्रीनारायण यादव ने बताया शुरू मे थोड़ा सीखने में इन लोगो को परेशानी जरूर हुई लेकिन फिर इन्होंने इसे पूरी तरीके से सीख लिया और देखिये अब ये इसे बना रहे, जिसकी कीमत 2 रूपए से लेकर 15 रुपये तक है। खुशी की बात ये है कि जब लोग इनके द्वारा बने सामानों को लेने आ रहे तो उन्हें बताया जा रहा कि ये सभी समान मांसिक मंदित और दिव्यांग लोगों द्वारा तैयार की गई है, तो लोग हैरान हो रहे है और इनके सामानों को काफी पंसद कर रहे हैं साथ ही अपने घर को सजाने के लिए इसे खूब खरीद भी रहे हैं। ऐसे में इस बार भी प्रयागराज की दीवाली को इन मानसिक मंदित लोगों ने बेहद खास और अहम बना दिया है।  


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Umakant yadav

Related News

Recommended News

static