नोएडा में दलित प्रेरणा स्थल और चिल्ला बॉर्डर पर जारी है किसानों का धरना

punjabkesari.in Monday, Dec 07, 2020 - 03:50 PM (IST)

नोएडा: नए कृषि कानूनों के विरोध में दलित प्रेरणा स्थल पर छह दिन से धरने पर बैठे भारतीय किसान यूनियन (लोक शक्ति) के नेता व कार्यकर्ता सोमवार को भी यहां डटे रहे। भारतीय किसान यूनियन (लोक शक्ति) के राष्ट्रीय अध्यक्ष मास्टर श्यौराज सिंह ने कहा कि नए कृषि कानून के विरोध में उनके संगठन के कार्यकर्ता छह दिन से दलित प्रेरणा स्थल पर धरने पर बैठे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘इन कानूनों के लागू होने से किसान बर्बाद हो जाएगा।'' 

गौरतलब हो कि भारतीय किसान यूनियन (लोक शक्ति) के कार्यकर्ताओं ने रविवार को दिल्ली की ओर पैदल मार्च करने का प्रयास किया था लेकिन पुलिस ने उन्हें वहां जाने से रोक दिया था। दूसरी ओर, भारतीय किसान यूनियन (भानु) द्वारा चिल्ला बॉर्डर पर चल रहा धरना-प्रदर्शन आज सातवें दिन भी जारी है। चिल्ला बॉर्डर पर धरना दे रहे किसानों ने दिल्ली से नोएडा व नोएडा से दिल्ली आने-जाने वाले दोनों तरफ के मार्ग को अवरुद्ध कर रखा है। भारतीय किसान यूनियन (भानु) के राष्ट्रीय अध्यक्ष ठाकुर भानु प्रताप सिंह ने कहा, ‘‘जब तक नए कृषि कानून केंद्र सरकार वापस नहीं लेती, किसान आयोग का गठन नहीं करती और किसानों के फसल के लिए लागू एमएसपी को कानूनी मान्यता नहीं देती तब प्रदर्शन जारी रहेगा।''

उन्होंने कहा कि मंगलवार को होने वाले भारत बंद में भी भाकियू (भानु) के कार्यकर्ता बढ़-चढ़कर भाग लेंगे। बता दें कि नए कृषि कानून के विरोध में चिल्ला बॉर्डर पर अपने समर्थकों के साथ लगातार धरना दे रहे भारतीय किसान यूनियन (भानु) के राष्ट्रीय अध्यक्ष ठाकुर भानु प्रताप सिंह की तबीयत रविवार को अचानक खराब हो गई थी तथा उन्हें नोएडा के सेक्टर-71 स्थित कैलाश अस्पताल में उपचार के लिए ले जाया गया था। सिंह ने कहा, ‘‘सर्द रात में खुले आसमान में सड़क पर धरना दे रहे कई अन्य किसान भी सर्दी खांसी की वजह से परेशान है। लेकिन वे जांच नहीं करा रहे हैं क्योंकि उन्हें आशंका है कि सरकारी तंत्र कोरोना वायरस के नाम पर उनके धरने को प्रभावित कर सकता है।'' 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Tamanna Bhardwaj

Related News

Recommended News

static