कोरोना पॉजिटिव बेटे के लिए अस्पतालों के चक्कर काटती रही बूढ़ी मां और कदमों में ही लाल ने तोड़ दिया दम

4/20/2021 2:50:17 PM

वाराणसीः कोरोना संकट का वह दौर जब तड़प, अमानवीयता, दर्द मौत का निमंत्रण तक झांक कर देख रहा है। मगर कोरोना की आड़ में इंसानियत और लचर स्वास्थ्य व्यवस्था दम तोड़ रही है। श्मशानों पर शवों की कतारें हों या अस्पतालों में इलाज के लिए बिस्तरों का अभाव, वास्तव में हम इसका दोष किसी को भी दें...मगर भेंट चढ़ती है आखिर में किसी की जिंदगी और सामने रह जाती है एक ह्रदयविदारक तस्वीर। ऐसी ही एक तस्वीर सामने आई है उत्तर प्रदेश स्थित घाटों के शहर कहे जाने वाले धर्मनगरी वाराणसी से जहां एक मां की कदमों में उसका जवान बेटा तड़प-तड़पकर दम तोड़ दिया।

दरअसल बनारस मां गंगा और बाबा काशी विश्वनाथ की नगरी है। इसके साथ ही यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र भी है। यहां एक बूढ़ी मां बेटे का शव लेकर बनारस की सड़कों पर घूमती रही और कोरोना पॉजिटिव बेटे ने मां की कदमों में दम तोड़ दिया। जवान बेटे की जान बचाने के लिए अस्पताल दर अस्पताल भटकती मां की आंसूओं को भला कौन पोंछ सकता है। जीवन भर की एक टीस जरूर रह गई कि अस्पताल और दवाई तो नहीं ही मिली यहां तक की उसकी लाश ले जाने के लिए इस लाचार मां को एम्बुलेंस तक नसीब नहीं हुई।


Content Writer

Moulshree Tripathi

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static