कन्या भ्रूण हत्या रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने चलाया अभियान, सूचना देने वाले को दिया जाएगा 1 लाख का इनाम

punjabkesari.in Sunday, Aug 14, 2022 - 05:10 PM (IST)

प्रतापगढ़ः बेटी बचाओ जैसे तरह-तरह के जागरूक अभियान और सरकार की लाख कोशिशों को बाद भी भ्रूण हत्या के मामलों पर लगाम नहीं लग रही है। ऐसे में इस पर रोक लगाने के लिए प्रतापगढ़ स्वास्थ्य विभाग ने एक पहल की है। दरअसल स्वास्थ्य विभाग ने एक अभियान चलाया है। जिसके तहत जो भी व्यक्ति लिंग परीक्षण और भ्रूण हत्या करने वाले आरोपियों के बारे प्रशासन को जानकारी देगा उसे 60 हजार रुपए इनाम दिया जाएगा। साथ ही जो नकली ग्राहक बनकर लिंग परीक्षण का पर्दाफाश करेगा उसे 1 लाख और उसके सहयोगी को 40 हजार का इनाम दिया जाएगा। इस अभियान को सफल बनाने के लिए स्वास्थ्य विभाग पूरी तैयारी कर रहा है।

बता दें कि जिलें मेंअवैध रूप से संचालन किए गए अल्ट्रासाउंड केंद्रों पर लिंग परीक्षण करवा कर भ्रूण हत्या करवाने वाले बहुत से मामले आते है। जिस पर रोक लगाने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने एक अभियान शुरू कर दिया है। इस मुहिम से लोगों को जोड़ने के लिए मुखबिर योजना के तहत स्टीकर में सबसे ऊपर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ को होडिंग बनाया गया है। प्रसव पूर्व लिंग जांच व चयनित गर्भपात को दंडनीय अपराध बताते हुए लोगों से सूचना देने की अपील की गई है। इसके लिए पीसीपीएनडीटी अधिनियम 1994 के तहत गठित सलाहकार समिति के पदाधिकारियों,  जिसमें जिला मजिस्ट्रेट के साथ ही जिले के 16 पदाधिकारियों के नाम पदनाम व मोबाइल नंबर जारी किया गया है।आम जनमानस से अपील की गई है कि किसी भी अल्ट्रासाउंड केंद्र पर यदि लिंग परीक्षण की कोई जानकारी हो तो निम्नलिखित अधिकारियों को सूचित करें। यह सूचना पूरी तरह से गोपनीय रखी जाएगी।

इस अभियान के बारे में सीएमओ जीएम शुक्ल ने बताया,  कि लिंग परीक्षण कानून संगेय अपराध है। लिंग परीक्षण पर अंकुश लगाने के लिए मुखबिर योजना चला रखी है। लिंग परीक्षण को पूरी तरह से बंद करने के लिए सरकार द्वारा भारी भरकम राशि इनाम भी घोषित किया गया है। सीएमओ के मुताबिक लिंग परीक्षण की सटीक सूचना देने वाले व्यक्ति को 60 हजार का इनाम दिया जाएगा और यदि कोई ग्राहक बनकर अल्ट्रासाउंड केंद्र का लिंग परीक्षण का पर्दाफाश करता है तो उसे 1 लाख रुपये व उसके सहयोगी को 40 हजार रुपये का इनाम दिया जाएगा उसे सम्मानित किया जाएगा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tamanna Bhardwaj

Related News

Recommended News

static