लखीमपुर घटना को लेकर अखिलेश ने उठाए सवाल, कहा- पुलिस आते जाते सेल्यूट करेगी तो कैसे मिलेगा न्याय

punjabkesari.in Saturday, Oct 09, 2021 - 10:39 AM (IST)

बहराइच: समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने लखीमपुर हिंसा के मुख्य आरोपी आशीष मिश्र की गिरफ्तारी और केन्द्रीय राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी के इस्तीफे की मांग करते हुये कहा कि पुलिस आरोपी के घर में आते जाते समय सेल्यूट करेगी तो उससे निष्पक्ष कार्रवाई की उम्मीद कैसे की जा सकी है। उन्होंने कहा कि सरकार के इशारे पर लखीमपुर जिला प्रशासन ने हिंसा के नामजद आरोपी को समन भेजने की जो औपचारिक कार्रवाई की है उससे जनाक्रोश और बढ़ गया है।      

अखिलेश यादव ने शुक्रवार को लखीमपुर खीरी के तिकोनिया कांड में मारे गये किसानो के परिवारों से बहराईच जाकर मुलाकात की और उन्हें हर सम्भव मदद तथा न्याय दिलाने का आश्वासन दिया। यादव रघुनाथपुर महुरनिया के गुरविंदर सिंह, नानपारा के दलजीत सिंह के परिजनों से मिले। उन्होंने कहा परिवार न्याय चाहता है उसे सुरक्षा मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि लखीमपुर हत्याकांड के बाद जिस तरह पूरे देश-विशेषकर उत्तर प्रदेश में किसानों के बीच भावात्मक एकता जन्मी है, वह अभूतपूर्व है। ये सरकार लोकतंत्र का गला घोंट रही है। गांवों में भाजपा के झंडे उतर गए हैं।

उन्होंने कहा कि सिर्फ जांच से न्याय नहीं होगा, गृहराज्य मंत्री का इस्तीफा हो। दोषियों की गिरफ्तारी हो, उन्हें सजा मिले तब न्याय होगा। ग्राउंड से जो वीडियो आ रहे हैं, वे सच्चाई बयान कर रहे हैं। सभी लोग कह रहे हैं कि घटना में गृहराज्य मंत्री के बेटे शामिल थे। उन्होंने कहा समाजवादी पार्टी न्याय के लिए लड़ती रहेगी। सुप्रीम कोर्ट के दखल के बाद न्याय की उम्मीद जगी है। सुप्रीम कोर्ट को भी उत्तर प्रदेश सरकार के रवैये पर भरोसा नहीं है। बहराइच जाने से पहले लखनऊ में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि भाजपा का चाल, चरित्र और चेहरा उजागर हो गया है। इस सरकार के रहते किसी को न्याय नहीं मिल सकता है।

यादव ने घटना में केंद्रीय गृहराज्य मंत्री के इस्तीफे की मांग करते हुए कहा कि मंत्री रहते उनसे और उनके परिवार से कैसे पूछताछ हो सकती है। पुलिस उनके घर आएगी तब सैल्यूट करेगी और घर से जाएगी तब सैल्यूट करेगी। ऐसी पुलिस कौन सी पूछताछ करेगी। अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार सच को दबाना और सब कुछ छुपाना चाहती है। यादव ने कहा कि कस्टोडियल डेथ के मामले में सबसे ज्यादा नोटिसें मानवाधिकार आयोग ने दी है। भाजपा सरकार खुद आरोपियों को भगाती है। प्रदेश में कानून व्यवस्था ध्वस्त है। अब तो केन्द्र सरकार के हस्तक्षेप से ही वापसी होगी। जनता को भाजपा सरकार पर भरोसा नहीं रह गया है। वह तो सुप्रीम कोर्ट की सख्ती से कुछ कार्रवाई होगी।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा सरकार ने किसानों को धोखा दिया है। समाजवादी पाटर्ी की सरकार आने पर किसानों की करोड़ों की मदद करेंगे। पुलिस ने कहा कि सरकार शहीद किसानों के परिवारों की मदद क्यों नहीं कर रही है। इतनी बड़ी सरकार है। क्या सरकार के पास किसानों को देने के लिए दो करोड़ रुपए नहीं है। सरकार विज्ञापनों में दमदार होने का दावा करती है। दमदार सरकार केवल ताकतवर लोगों के लिए है, गरीबों और किसानों के लिए नहीं है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Umakant yadav

Related News

Recommended News

static