कश्मीर समस्या के लिए नेहरू जिम्मेदार: सिद्धार्थ नाथ सिंह बोले- जनसंघ न होती तो जलपाईगुड़ी भी हाथ से निकल जाता

punjabkesari.in Monday, Apr 25, 2022 - 10:17 AM (IST)

जौनपुर: कश्मीर समस्या के लिये परोक्ष रूप से देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू को जिम्मेदार ठहराते हुये भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता एवं विधायक सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि अगर जनसंघ न रही होती तो जलपाई गुड़ी भी हाथ से निकल जाता।

पार्टी के तीन दिवसीय जिला स्तरीय प्रशिक्षण वर्ग को संबोधित करते हुये सिंह ने रविवार को कहा कि नेहरू को हमेशा यह लगता था कि देश के बंटवारे में मुसलमानों के साथ अन्याय हुआ है, उसी का परिणाम है कि शेख अब्दुल्ला से उनकी सन्धि हुई और कश्मीर का उदाहरण सबके सामने है। जलपाई गुड़ी की समस्या को लोग जानते ही होंगे, अगर जनसंघ न रही होती तो जलपाई गुड़ी भी आपके हाथ से निकल जाता, क्योकि नेहरू जी यह क्षेत्र भी पाकिस्तान को देने की बात करते थे।      

प्रथम सत्र में भाजपा और इतिहास विकास पर संबोधित करते हुए उन्होने कहा कि छात्र जीवन से राजनीति की शुरुआत होती है और उस समय जिस पार्टी से कार्यकर्ता जुड़ जाए उसी पार्टी का रह कर सेवा कार्य करता है। हर पार्टी की अपनी विचारधारा होती है, लेकिन भाजपा एक ऐसी पार्टी है जो देश हित को सर्वोपरि मानती है। कांग्रेस के बारे में कहा कि जहां कार्यकर्ता के मन की भावना को पार्टी की विचारधारा के आगे दबाना पड़े ऐसे दल में कोई कब तक रह सकता है।

जिस दल में राष्ट्रहित के कार्यों को करने और अपने धर्म की बात कहने का साहस न हो ऐसे दल में राजनैतिक मजबूरी वश ही कार्यकर्ता रुक सकता, जबकि भाजपा में राष्ट्रहित को सर्वोपरि रखा जाता है। यही वजह है कि जो काम कांग्रेस 70 सालों में नहीं कर पाई, सिफर् वोट बैंक के चक्कर में, वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने साहस दिखाते हुए कश्मीर से धारा 370 हटाने का काम किया। ऐसे अनेक कार्य है। जिनकी वजह से भाजपा लोकप्रिय है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Mamta Yadav

Related News

Recommended News

static