किसान आंदोलन: योगी सरकार के मंत्री ने प्रदर्शनकारियों को बताया गुंडा, भाकियू ने दिया करारा जवाब

punjabkesari.in Sunday, Nov 29, 2020 - 04:06 PM (IST)

बुलंदशहर: कृषि कानून के खिलाफ पंजाब, हरियाणा और यूपी के किसान मोर्चा संभाले हुए हैं। शुक्रवार को बुलंदशहर, मेरठ, मुजफ्फरनगर, बदायूं समेत कई जिलों में किसान भी सड़कों पर उतर आए और नेशनल हाईवे का जाम कर दिया था। इस पर बुलंदशहर के विधायक और योगी सरकार के मंत्री अनिल शर्मा ने किसानों को गुंडा बताकर नया विवाद खड़ा कर दिया है। उनके बयान पर बीकेयू एनसीआर के अध्‍यक्ष मांगेराम त्‍यागी ने कहा, अगर किसान गुंडे हैं तो मंत्री जी उनके खिलाफ मुकदमा क्‍यों दर्ज नहीं कराते।

मंत्री अनिल शर्मा ने कहा कि यह प्रदर्शन तथा विरोध आम किसान नहीं कर रहे हैं। यह सिर्फ कुछ गुंडे हैं जो प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार तो किसानों के हित में काम कर रही है। कहा कि चीनी मिलों को समय से चलवाने के साथ किसानों के गन्ना का समय से भुगतान और गेंहू तथा धान की बड़ी पैमाने पर समय से खरीद का काम सरकार की वरीयता में हैं। इस बार तो सरकार ने मक्का भी खरीदा है। इससे पहले प्रदेश में कभी मक्का को किसी भी सरकार ने नहीं खरीदा था। उत्तर प्रदेश की सरकार लगातार किसानों के हित में काम कर रही है।

योगी के मंत्री के बयान पर भारतीय किसान यूनियन एनसीआर के अध्‍यक्ष मांगेराम त्‍यागी ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि अगर किसान गुंडे हैं तो मंत्री जी उनके खिलाफ मुकदमा क्‍यों दर्ज नहीं कराते। मांगेराम त्यागी ने अपनी वीडियो जारी करते हुए कहा कि मंत्री अनिला शर्मा, जो स्वय किसान पुत्र है और इस वक्त बीमारी से परेशान है। मैं उनके स्वास्थ्य होने की कामना करता हूं। कहा कि, उन्होंने किसानों को ऊपर जो टिप्पणी की है, किसानों को गुंडा बताने का काम किया है यह खेद का विषय है। उन्हें लगाता है कि प्रदर्शन करने वाले किसान गुंडे थे बदमाश थे तो उन्हें किसानों के खिलाफ मुकदमा लिखवा देना चाहिए। वो प्रदेश सरकार में है मुख्यमंत्री जी कहकर किसानों को गिरफ्तार करवाएं। उन्हें अरेस्ट करवाएं। लेकिन जो उन्होंने इस तरह की टिप्पणी की है ये बड़ी ही खेद का विषय है।


 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Tamanna Bhardwaj

Related News

Recommended News

static