जुड़वां बच्चे की मौत का गम भुलाकर पुनः ड्यूटी पर लौटा कोरोना योद्धा

punjabkesari.in Friday, May 08, 2020 - 10:40 PM (IST)

मुज़फ़्फरनगर: कोरोना का प्रकोप बहुत तेजी फैल रहा है ऐसे में कोरोना योद्धा हमारी सुरक्षा के लिए दिन रात लगे हुए है। वे अपना दुख दर्द को भुला कर हमारी सेवा में लगे है। ऐसा ही एक जाबाज सिपाही जिसने अपने जुड़ा बच्चे की मौत होने के बाद भी हिम्मत नहीं हारी उसने बच्चों कर अंतिम संस्कार करके पुना ड्यूटी पर लौट आया।

बता दें कि मुजफ्फरनगर जनपद में भोपा थाना क्षेत्र की शुकतीर्थ पुलिस चौकी पर तैनात कांस्टेबल मोहित के जज्बे को सलाम है। मोहित जिला अलीगढ़ के गांव वैंना के रहने वाले हैं। 21 अप्रैल को नोएडा के अस्पताल में उनकी पत्नी साक्षी ने दो जुड़वा बेटों को जन्म दिया था। एक दिन बाद ही 22 अप्रैल को अस्पताल में ही एक बेटे की मौत हो गई।

एक बेटे की मौत की खबर पाकर वह अवकाश लेकर अस्पताल पहुंचे।इतना ही नहीं छह दिन के अंतराल में उसका दूसरा बेटा भी चल बसा। मोहित उसका भी अंतिम संस्कार कर पांच दिन बाद ही ड्यूटी पर लौट आए। मोहित के पिता जयप्रकाश पिछले तीन वर्षों से कैंसर की बीमारी से लड़ रहे हैं। उनकी बीमारी का सदमा मां राजेश सहन नहीं कर पाई थीं। गत वर्ष मां का देहांत हो गया। दोनों जुड़वा बेटों की मौत से पत्नी साक्षी पर भी गमों का पहाड़ टूटा है। वह गांव में ही बीमार ससुर की देखरेख कर रही हैं।उन्होंने कहा कि देश सेवा मेरा फर्ज है। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Edited By

Ramkesh

Related News

Recommended News

static