UP Election 2022: लालजी प्रसाद निर्मल का दावा- यूपी में BJP 10 मार्च को पूर्ण बहुमत से सरकार बनाएगी

punjabkesari.in Sunday, Feb 27, 2022 - 11:35 AM (IST)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के अनुसूचित जाति वित एवं विकास निगम के अध्यक्ष लालजी प्रसाद ‘निर्मल' ने राज्य में एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार बनने का दावा करते हुए कहा है कि 10 मार्च को चुनाव परिणाम आने पर भाजपा की पूर्ण बहुमत से सरकार बनना तय है।      

दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री लालजी ने रविवार को बताया कि प्रदेश की जनता ने पिछले पांच साल में केन्द्र और राज्य सरकार के समन्वय से राज्य में हुए जनकल्याण एवं विकास के ऐतिहासिक कामों को अनुभव किया है। उन्होंने कहा कि समाज का हर वर्ग खासकर कम आय वर्ग के लोगों के जीवन में आये बदलाव को महसूस किया जा रहा है। यही वजह है कि सर्वसमावेशी विकास में यकीन करने वाली प्रदेश की जनता भाजपा सरकार को दोबारा सत्ता में लाने के लिये प्रतिबद्ध है। उन्होंने दलील दी कि गरीब कल्याण से जुड़ी सरकारी योजनाओं के सर्वाधिक लाभार्थी अनुसूचित जाति के मतदाता हैं। लालजी ने दावा किया कि दलित, निर्बल एवं उपेक्षित समुदायों के लोग भाजपा का जबरदस्त फैन हो चुके हैं।      

उन्होंन कहा कि जाटव समाज के मतदाता पहले बहुजन समाज पार्टी (बसपा) से जुड़े थे, लेकिन कालांतर में मायावती के कमज़ोर होने से जाटव समाज का भी एक बड़ा हिस्सा भाजपा के साथ जुड़ गया है। उन्होंने भरोसा जताया कि गैर जाटव पहले से ही भाजपा के साथ था, मगर अब सरकारी योजनाओं का लाभ मिलने के कारण ये वर्ग अब और ज्यादा मजबूती के साथ भाजपा से जुड़ गये हैं।

लालजी ने हालांकि यह भी दावा किया कि दलित वर्गों का समर्थन भाजपा को मिल रहा है, लेकिन इन समुदायों की दूसरी पसंद सिवाय बसपा के कोई अन्य नहीं हैं। उन्होंने कहा, ‘‘दलित वोट भाजपा को ही मिल रहा है, यह भी सही है कि जो थोड़ा बहुत दलित समुदायों का वोट भाजपा को नहीं मिलेगा, वह बसपा को मिलेगा।''  समाजवादी पार्टी (सपा) को दलित वर्गों का वोट बिलकुल भी नहीं मिलने का दावा करते हुए लालजी ने दलील दी कि बसपा छोड़कर जो लोग सपा में गए हैं, उनका कोई अपना जनाधार नहीं है। इसलिये बसपा से सिर्फ नेता गये हैं, उनसे जुड़े मतदाता नहीं।        

पिछड़े वर्ग के मतदाताओं, खासकर ग्रामीण इलाकों में भाजपा से नाराजगी से पिछले चार चरण के चुनाव में भाजपा को नुकसान होने की आशंकाओं के सवाल पर लालजी ने कहा कि यह दलील पूरी तरह सच नहीं है। उन्होंने इसे एक मिथक बताते हुए कहा कि यह सही है कि बेशक, कुछ कारणों से पिछड़े वर्ग के मतदाताओं का एक छोटा सा वर्ग सपा की तरफ शिफ्ट हुआ है लेकिन भाजपा को बहुत अधिक नुकसान होने की बात सही नहीं है।       

उन्होंने चुनाव के मुद्दों के सवाल पर कहा कि राशन और राम मंदिर चुनाव के अहम मुद्दे हैं। लालजी ने दावा किया ‘‘जिसे राशन मिल रहा है वो वोट भाजपा को देगा। पिछड़े वर्गो में धार्मिक आस्थाओं को लेकर प्रतिबद्धता भी ज़्यादा है। हालांकि कुछ गलतियां हुई हैं पर भयमुक्त प्रदेश होने से वोटर पूरी तरह से भाजपा के साथ है।'' जातीय जनगणना के मुद्दे पर उन्होंने कहा, ‘‘मैं पहले जातीय जनगणना का पक्षधर था। लेकिन अब आधुनिक दौर में ये आवश्यक नहीं है। जातीय जनगणना से जातियों में अहंकार आएगा। अब दुनिया बदल रही है हमें जातियों में नहीं उलझना चाहिए।''


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Mamta Yadav

Related News

Recommended News

static