बसपा विधायकों के फर्जी हस्ताक्षर मामले को लाल जी वर्मा ने बताया झूठा

10/28/2020 6:35:43 PM

लखनऊ: बसपा विधानमंडल दल नेता लालजी वर्मा ने बगावत करने वाले विधायकों के मामले को निराधार बताया। उन्होंने कहा कि विधायक झूठा बोले रहे है। राज्यसभा चुनाव में पार्टी ने रामजी गौतम को प्रत्याशी बनाया है उनके पक्ष में विधायकों ने समर्थन किया है। उन्होंने फर्जी हास्ताक्षर के मामले पर बयान देते हुए कहा कि विधान सभा में लगी सीसी टीबी को चेक किया जाया तो सच्चाई सामने आ जायेगी। विधायकको की मौजूदगी में रामजी गौतम ने राज्यसभा के लिए नामांकन कराया है।

बता दें कि बहुजन समाज पार्टी के विधायकों ने अपने ही प्रत्याशी के खिलाफ बगावत कर दी है। विधायकों ने प्रस्तावक से अपना नाम वापस लेने की बात कही है। इसके साथ ही अब राज्यसभा चुनाव निर्विरोध संपन्न हो सकता है। बसपा के विधायक असलम राईनी, हकीम लाल बिंद, हरि गोविंद भार्गव, मुस्तफा सिद्दीकी और असलम अली ने बगावत की है। इन्होंने बसपा प्रत्याशी रामजी गौतम का विरोध जताया और बीजेपी से साठगांठ का आरोप लगाया है।

ग़ौरतलब है कि भाजपा की तरफ से केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी, राष्ट्रीय महामंत्री अरुण सिंह और पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर के बेटे नीरज शेखर उम्मीदवार हैं। इसके साथ ही भाजपा ने हरद्वार दुबे और पूर्व विधायक डॉ सीमा द्विवेदी को ब्राह्मण चेहरे के रूप में शामिल किया है। पिछड़ी जाति से आने वाले दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री बीएल वर्मा और डॉ. गीता शाक्य ने भी बीजेपी से अपना नामांकन दाखिल किया है।


Ramkesh

Related News