राम मंदिर के लिए सबसे बड़ा दान: पूर्व MLA ने दिया एक करोड़ 11लाख 11हजार 111रुपये का चेक

1/16/2021 6:07:10 PM

रायबरेली: उत्तर प्रदेश के रायबरेली में शुक्रवार को पूर्व विधायक सुरेंद्र सिंह ने राममंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट के सचिव चंपत राय को एक करोड़ 11 लाख 11हजार 111 रुपये का चेक दिया। जिले के सरेनी थाना क्षेत्र के तेज गांव में सम्मान समारोह के एक कार्यक्रम के आयोजन के दौरान चंपत रॉय को यह चेक सौंपा गया। कार्यक्रम में सदर विधायक अदिति सिंह भी शामिल हुई।

PunjabKesari
बता दें कि शुक्रवार को तेज गांव स्थित पूर्व विधायक सुरेंद्र बहादुर सिंह ने एक सम्मान समारोह का आयोजन किया। जिसमें सदर विधायक आदित्य सिंह, राम मंदिर ट्रस्ट के चंपत राय सहित अन्य दिग्गज नेता शामिल हुए। कार्यक्रम में गरीबों को कंबल वितरित किए गए। वहीं समाजसेवियों का सम्मान किया गया इस दौरान सुरेंद्र बहादुर सिंह ने चंपत राय को 1 करोड़ 11 लाख 11 हजार 111 रुपये का चेक सौंपा। यह राम मंदिर निर्माण के लिए अब तक का सबसे बड़ा दान है। इस दौरान चंपत राय ने कहा कि सुरेंद्र सिंह के परिवार ने बनारस हिंदू विश्व विद्यालय में एक फैकल्टी का निर्माण कराया था। बिना किसी कामना इच्छा के केवल समाज के कल्याण की भावना इच्छा से इस प्रकार से जो समर्पित करते हैं वो माता-पिता के द्वारा दिए गए संस्कारों का फल है। मैं प्रार्थना करता हूं परमात्मा सुरेंद्र बहादुर सिंह को सुखी स्वस्थ्य और दीर्घ जीवन प्रदान करें।

PunjabKesari
चंपत राय ने कहा कि राम जन्म भूमि पर मंदिर निर्माण के पहले सभी प्रकार के तकनीकि वैज्ञानिक परीक्षण पूरे हो गए हैं। नींव  का सर्वोत्तम ड्राइंग क्या होगा उस पर कार्य प्रारंभ हो गया है। आईआईटी दिल्ली, आईआईटी गुवहाटी, सेंट्रल बिल्डिंग रिसर्च इंस्टीट्यूट रुड़की, आईआईटी चेन्नई, आईआईटी बाम्बे, नेशनल टेक्नालॉजीकल सूरत के डायरेक्टर प्रोफेसर गांधी, नेशनल जियो रिसर्च इंस्टीट्यूट हैदराबाद एनजीआरआई के वैज्ञानिक टेक्नेशियन और टाटा इनके वैज्ञानिकों और इंजीनियर के प्रति मैं आभार व्यक्त करता हूं। उन्होंने एक ऐतिहासिक काम को अंजाम दिया है। बहुत शीघ्र संभवतः एक सप्ताह में ड्राइंग तैयार हो जाएगी और शताब्दियों तक मजबूत रहने वाली नींव का काम प्रारंभ हो जाएगा।

PunjabKesari
राय ने आगे कहा कि मकर संक्रांति का अगर विचार कर लें तो 39 महीने में ये कार्य पूरा हो जाएगा। आज से संपूर्ण भारत में मंदिर के लिए संसाधन समाज का समर्पण स्वीकार करने के लिए राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के विचारों को मानने वाले तमाम कार्यकर्ता बंधु देश देश गांव-गांव जाना शुरू करेंगे। 42 दिन का ये अभियान है, मकर संक्रांति से ये शुरू हुआ है जो माघ पूर्णिमा तक चलेगा। कार्यकर्ताओ की इच्छा शक्ति को देखकर लगता है 42 दिन में हिंदुस्तान के 5 लाख से भी अधिक गावों में और 12 लाख से भी अधिक घरों में संपर्क होगा।

PunjabKesari
उधर, पूर्व विधायक सुरेंद्र सिंह ने कहा कि मैं जीवन में बहुत कुछ करना चाहता हूं इसलिए मैं जीना चाहता हूं। राममंदिर के लिए दान करना एक अलग सोच है और इतना बड़ा दान करना एक अलग सोच है। राम में हमारी आस्था है और राममंदिर निर्माण के लिए सैकड़ों वर्षों से लड़ाई लड़ी गई, मुकदमा चलता रहा अंत में आकर राममंदिर के पक्ष में के फैसला आया। अब राम मंदिर उस स्थान पर बनेगा जहां पहले था। इसी के लिए हम दान देने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि अगर छोटा-मोटा दान देना होता तो इतना बड़ा कार्यक्रम नहीं करते, उस धनराशि के सम्मान रखने के हिसाब से कार्यक्रम हो रहा। राममंदिर बड़ी चीज है इतिहास उसका गवाह होगा, वो इतना बड़ा है कि एक करोड़ रूपए उसके लिए कुछ नहीं है। हमने ये सुना की उत्तर प्रदेश मे अब तक 1 करोड़ रूपए दान दिया गया है, हमने इसलिए उसमे 11 लाख 11 हजार और बढ़ाकर दान दिया ताकि दान देने का भी मजा आए।


Umakant yadav

Related News