माघ मेला 2020: देश-दुनिया के सबसे बड़े धार्मिक मेले की तैयारी हुई तेज

12/8/2019 1:01:14 PM

प्रयागराज: माघ मेला 2020 को लेकर तैयारियां तेज हो गई हैं, अधिकारियों ने सभी विभागों को निर्देश दिया है कि सभी कार्य दिसंबर की आखिरी तारीख तक हो जाने चाहिए। 2018 माघ मेले के मुताबिक इस बार श्रद्धालुओं की संख्या ज्यादा बताई जा रही है। इस बार मेला प्रशासन ने  मेला  क्षेत्र को 6 सेक्टरों में बांटा है। इन 6 सेक्टरों में  18 स्नान घाट बनाए जा रहे हैं जहां श्रद्धालु आस्था की डुबकी लगाएंगे। इसके साथ 5 पांटून पुल बनाए जा रहे हैं।
PunjabKesari
बता दें कि कुछ दिन पहले ही जिला प्रशासन ने माघ मेले को सकुशल संपन्न करने के लिए गंगा पूजन भी किया था। जिसके बाद औपचारिक तौर पर माघ मेले की तैयारियां शुरू हो गई थी। इस बार माघ मेले की शुरुआत पौष पूर्णिमा के स्नान से हो रही है और पहले ही स्नान से कल्पवासी यहां कल्पवास करने के लिए आ जाएंगे। ऐसे में तय समय पर तैयारी पूरी करना भी प्रशासन के लिए एक बड़ी चुनौती है। इस बार 18000 एलईडी की लाइटें लगाई जा रही है जिससे एक बार फिर मेला क्षेत्र रात में जगमगा उठेगा। मेला की सारी प्रमुख सुविधाएं महाशिवरात्रि के सनान तक रहेगी, जबकि मौलिक सुविधाएं जैसे शौचालय, चेंजिंग रूम, चकर्ड प्लेट, मार्ग प्रकाश और पानी की सुविधा बाढ़ के पहले तक बहाल रहेगी।
PunjabKesari
वहीं प्रशासन के आदेशानुसार सुरक्षा को लेकर जगह-जगह सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं साथ ही इस बार 13 थाने बनाए जाएंगे। पिछले माघ मेले की बात की जाए तो अब तक 12 ही थाने बनाए जाते थे। इसके साथ ही इसबार 43 पुलिस चौकियां भी बनाई जाएंगी। 
PunjabKesari
डीएम भानू गोस्वामी ने बताया कि मेला क्षेत्र में बन रहे पांच पार्टून पुलों में से एक पार्टून पुल पूरी तरीके से बनकर तैयार हो गया है। यहां से गाड़ियों का आवागमन भी शुरू हो गया है। यह पार्टून पुल दारागंज क्षेत्र में बनकर तैयार हुआ है जो दारागंज से झूसी की तरफ श्रद्धालुओं को ले जाने का काम करेगा।

 


Ajay kumar

Related News