जौनपुर का महासंग्राम: 8 सीटों पर सपा-भाजपा के बीच कड़ी टक्कर, एक पर बसपा की जगी उम्मीद

punjabkesari.in Friday, Mar 04, 2022 - 02:31 PM (IST)

जौनपुर: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से सटे जौनपुर जिले की नौ में से आठ विधानसभा सीटों पर सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और समाजवादी पार्टी (सपा) के बीच सीधी टक्कर देखने को मिल रही है वहीं एक सीट पर बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रत्याशी जीत के लिये पूरा जोर लगाये हैं।       

जिले के पूर्वी छोर में स्थित केराकत (सुरक्षित) विधानसभा में बसपा प्रत्याशी डॉ लालबहादुर सिद्धार्थ चुनाव मैदान में उतरे मगर विरोधी दलों की तो छोड़ दें, इनकी अपनी पत्नी अनीता सिद्धार्थ ने ही बगावत का झंडा उठा लिया और बसपा के मूल वोटरों को भाजपा प्रत्याशी की तरफ मोड़ने के लिए दिन रात एक कर दी है। पत्नी की बगावत डॉ सिद्धार्थ पर भारी पड़ती नजर आने लगी है, नतीजन यहां पर सपा और भाजपा के बीच सीधी लड़ाई दिख रही है। जौनपुर सदर विधानसभा से बसपा, सपा और कांग्रेस ने मुसलमान प्रत्याशी खड़े किये है वहीं भाजपा ने अपने राज्य मंत्री गिरीश चन्द्र यादव पर भरोसा किया है जिनका भाग्य उदय होता दिखाई देने लगा है, इसका एक फैक्टर यह भी है कि मौर्य समाज के नेता को सपा ने पहले टिकट दिया फिर काट कर मुस्लिम प्रत्याशी को पकड़ा दिया इससे नाराज मौर्य मतदाता गिरीश चन्द यादव के पाले में चला गया और मजबूती प्रदान कर दिया है।      

मड़ियाहूँ विधान से बसपा प्रत्याशी अनन्द दूबे चुनाव तो लड़ रहे है लेकिन ब्राह्मण मतदाता की उपेक्षा उन्हें चुनावी जंग से बाहर धकेल दिया है, ये भी तीसरे अथवा चौथे स्थान के लिए अपनी पूरी ताकत लगाये हुए है। यहाँ सपा और अपना दल एस के बीच सीधी टक्कर चल रही है। कांग्रेस प्रचार ही नहीं कर रही है। जफराबाद विधान सभा में भाजपा विधायक डॉ हरेन्द्र प्रसाद सिंह की सीधी टक्कर सपा सुभासपा गठबंधन से दिग्गज नेता पूर्व कैबिनेट मंत्री जगदीश नरायन राय है जो एक तरफा चुनाव लड़कर विधान सभा पहुंचने वालो की सूची में नजर आने लगे है, यहां पर बसपा लड़ाई से बाहर दिख रही है।

जिले की सबसे संवेदनशील मल्हनी विधान सभा पर बसपा का प्रत्याशी शैलेन्द यादव जदयू प्रत्याशी पूर्व सांसद धनंजय सिंह का चुनाव प्रचार कर रहा है, क्योंकि बसपा प्रमुख का निर्देश है कि जो समाजवादी पार्टी को हरा सके उसी के पक्ष में बसपा के लोग मतदान करें। यहां भाजपा भी लड़ाई को धार नहीं दे सकी है। तो सीधी जंग सपा प्रत्याशी एव विधायक लकी यादव और जद यू प्रत्याशी धनंजय सिंह के बीच चल रही है।       

इसी तरह बदलापुर विधान सभा, मछलीशहर सुरक्षित और मुंगराबादशाहपुर विधानसभा की भी स्थिति कमोवेश कुछ इसी तरह की हो गयी है। बसपा ने बदलापुर से मनोज सिंह को टिकट दिया जिसका कोई निजी जनाधार नहीं है यहां पर सीधा मुकाबला सपा और भाजपा के बीच चल रहा है। मुंगराबादशाहपुर विधान सभा से बसपा के दिनेश शुक्ला चुनाव मैदान मे है लेकिन यहां पर सपा और भाजपा की सीधी टक्कर मानी जा रही है। सपा के पंकज पटेल और भाजपा अजय दूबे दोनो क्षेत्र में खासा असर रखने वाले माने जाते है। जहां तक मछलीशहर सुरक्षित का सवाल है यहां से बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ने वाले विजय कुमार की कोई राजनैतिक पहचांन नहीं है यहा पर भी सपा की डॉ रागनी सोनकर और भाजपा मेहीलाल गौतम के बीच जंग चल रही है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Mamta Yadav

Related News

Recommended News

static