सियाचिन में ड्यूटी के दौरान शहीद हुए जवान का घर पहुंचा पार्थिव शरीर, नम आंखों से दी गई अंतिम विदाई

punjabkesari.in Sunday, Apr 18, 2021 - 12:22 PM (IST)

मेरठ: सियाचिन ग्लेशियर में 16000 फीट की ऊंचाई पर देश की सरहद की सुरक्षा में तैनात मेरठ के सूबेदार वीरेंद्र कुमार शर्मा को शनिवार देर शाम अंतिम विदाई दी गई। पोस्ट की कमान संभालने के लिए सैनिकों की टुकड़ी की अगुवाई करते हुए ऊंचाई पर पहुंचे सूबेदार वीरेंद्र कुमार बर्फीली पहाड़ी पर सेना के सबसे बड़े दुश्मन मौसम से जीवन की जंग हार गए। पोस्ट पर पहुंचने के दूसरे दिन सुबह अचानक मौसम बदलने से उनको ऑक्सीजन की कमी महसूस होने लगी और दिल की धड़कन रुकने से उनकी मौत हो गई। देर शाम शहीद का पार्थिव शरीर उनके घर पहुंचा जहां नम आंखों से उन्हें अंतिम विदाई दी गई।

जानकारी मुताबिक मेरठ के रोहटा रोड पर सैनिक विहार कॉलोनी के फेस 2 के रहने वाले और सेना के 143 मीडियम रेजिमेंट में कार्यरत रहे सूबेदार वीरेंद्र कुमार की मौत 14 अप्रैल को सुबह हुई थी। ग्लेशियर से नीचे लाकर सैन्य व मेडिकल प्रक्रिया पूरी करने के बाद कल फ्लाइट के जरिए  शहीद के पार्थिव शरीर को दिल्ली लाया गया और फिर दिल्ली में सैन्य सलामी देने के बाद देर शाम शहीद का पार्थिव शरीर उनके घर पहुंचा। जहां से अंतिम विदाई देने के बाद उन्हें पंचतत्व में विलीन कर दिया गया। इस दौरान हर किसी की आंख में आंसू से और हर किसी की जुबान पर शहीद के जयकारे थे।  इस दौरान शहीद सूबेदार के परिवारजनों के साथ-साथ सभी का रो रोकर बुरा हाल था। शहीद सूबेदार को उनके छोटे भाई कुलदीप शर्मा और बेटे विवान ने मुखाग्नि दी ।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Anil Kapoor

Related News

Recommended News

static