मनरेगा कर्मचारियों ने दूसरे दिन भी जारी रखा धरना , शासन पर लगाया शोषण का आरोप

punjabkesari.in Thursday, Aug 27, 2020 - 05:47 PM (IST)

हमीरपुर: जनपद में नाराज मनरेगा कर्मचारियों ने कर्मचारी महासंघ के आवाहन पर विकास खंड के दूसरे दिन भी धरना दिया। मनरेगा कर्मियों ने खंड विकास अधिकारी को ज्ञापन सौंपकर शासन स्तर से हो रहे उत्पीडऩ पर रोष व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन खण्ड बिकास अनुराग सिंह को देते हुए मनरेगा कर्मियों द्वारा कहा गया है कि मनरेगा योजना की समीक्षा के दौरान शासन स्तर से अतिरिक्त कार्यक्रम अधिकारी, कंप्यूटर ऑपरेटर, तकनीकी सहायक एवं रोजगार सेवकों को बिना ठोस बजह व पक्ष जाने बिना ही मनमाने ढंग से सेवा समाप्त कर देने व प्राथमिक दर्ज कराने जैसी कार्रवाई की जा रही है, जो बहुत ही निंदनीय है।

उन्होंने कहर कि कोरोना महामारी के दौरान प्रवासियों को रोजगार देने में मनरेगा कर्मियों ने पूरी लगन व निष्ठा से काम किया है। जिसकी प्रशंसा खुद माननीय प्रधानमंत्री माननीय मुख्यमंत्री ने की है। बावजूद इसके शासन स्तर से कर्मचारियों का उत्पीडऩ किया जा रहा है। उसी के विरोध में संघ के प्रांतीय आवाहन पर 26 व 27 अगस्त को विरोध जताया जा रहा है। ज्ञापन के माध्यम से कर्मचारियों ने उत्पीडऩ रोके जाने की मांग की है। इस मौके पर ए पी ओ नीरज यादव तकनीकी सहायक सर्जन प्रताप, मनोज द्विवेदी, उपेंद्र सिंह सेंगर, विनय शुक्ला, देवकीनंदन गुप्ता, भगत सिंह, हरगोविंद कंप्यूटर ऑपरेटर रविंदर सिंह रोजगार सेवक अवधेश, अरविंद, रामकुमार सहित डेढ़ दर्जन से अधिक कर्मचारी मौजूद रहे।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Ramkesh

Related News

Recommended News

static