1 साल बाद भी नहीं बना शहीद के नाम पर स्मारक, सांसद और विधायक भी कर चुके हैं प्रयास....सोसाइटी के लोग काट रहें दफ्तर के चक्कर

punjabkesari.in Saturday, Aug 13, 2022 - 05:48 PM (IST)

नोएडा: उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा वेस्ट की एस सिटी सोसाइटी में रहने वाले पायलट मेजर रोहित को बलिदान हुए लगभग 1 साल हो चुका है। वहीं, शहीद के सम्मान में सोसाइटी के पास गोलचक्कर का नाम बलिदानी के नाम पर रखने की मांग अभी पूरा नहीं हो सका है। शहीद के परिवार समेत सोसाइटी के लोग प्राधिकरण अधिकारियों के चक्कर अभी भी लगा रहें हैं। वहीं, आजादी के 75 वर्ष पूर्ण होने पर इस मुहिम को और जोर दिया गया है। इसके साथ ही मांग की जा रही है कि 15 अगस्त के अवसर पर ही गोल चक्कर का नाम बलिदानी के नाम पर रखा जाए। बताया जा रहा है कि क्षेत्रीय सांसद व विधायकों के अनुरोध पर जैन विकास प्राधिकरण ने उस दौरान अपनी सहमति भी दे दी थी अब प्राधिकरण के अधिकारी अपनी बात से मुकर रहे हैं।

वहीं इस मामले में गौतम बुध नगर के सांसद डॉ महेश शर्मा ने गोल चक्कर का नाम मेजर शहीद रोहित के नाम पर रखने के लिए ग्रेटर नोएडा इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉरिटी को पत्र लिख चुके हैं।
PunjabKesari

गोल चक्र का नाम शहीद मेजर रोहित के नाम पर रखने के संबंध में दादरी विधानसभा 62 से भाजपा विधायक तेजपाल सिंह नागर ने भी मुख्य कार्यपालक अधिकारी ग्रेटर नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण को पत्र लिख चुके हैं।
PunjabKesari
आवासी परिषद जांच समिति सभापति श्री चंद्र शर्मा में भी इस मामले में ग्रेटर नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण गौतम बुध नगर के मुख्य कार्यपालक अधिकारी को पत्र लिखकर गोल चक्कर को नामांकन रखने का प्रस्ताव दिया है।
PunjabKesari
बता दें कि 20 अगस्त को जम्मू के उधमपुर जिले में शिवगढ़ धार इलाके में भारतीय सेना का चीता हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था जिसमें एक पायलट मेजर रोहित व उनके साथी अनुज राजपूत शहीद हो गए थे मेजर रोहित का परिवार ग्रेनो वेस्ट की एक ऐसे सिटी सोसाइटी में रहता है सोसाइटी के लोग मेजर रोहित के नाम से ग्रेनो वेस्ट के में स्मारक बनाए जाने की मांग कर रहे हैं साथ ही सोसाइटी के सभी फूल चक्र का नाम भी शहीद के नाम पर रखे जाने की मांग सोसायटी के लोगों ने की है। हालांकि रोहित के रहने वाले थे सूचना मिलने के बाद पूरा परिवार भी चला गया था। वहीं उनका अंतिम संस्कार सम्मान के साथ हुआ आज गोत्र परिवार के साथ सोसायटी वापस लौटे हैं।


 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Imran

Related News

Recommended News

static