मां का शव लेने के लिए 3 दिन से चक्कर काट रहा बेटा, अस्पताल ने मांगे 8 हजार रुपए

punjabkesari.in Monday, May 03, 2021 - 12:32 PM (IST)

अलीगढ़: कोरोना संकट में अस्पतालों में लापरवाही के लगातार मामले सामने आ रहे हैं। ताजा मामला अलीगढ़ स्थित पंडित दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल का है। जहां एक बेटा शंकर 30 अप्रैल से हर दिन सुबह से लेकर रात 11 बजे तक अस्पताल के बाहर इस आस में खड़ा रहता हैं कि आज उनकी मां का शव उन्हें सौंप दिया जाएगा, लेकिन उसे निराशा के साथ घर लौटना पड़ता है।

बता दें कि क्वार्सी थाना क्षेत्र के बेगम बाग निवासी 80 साल की बीना घोष कोलकाता की रहने वाली थीं। यहां गांधी आंख अस्पताल से रिटायर्ड कर्मी थीं। उनकी कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर 24 अप्रैल को दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल में भर्ती करवाया था। 6 दिन बाद 30 अप्रैल की शाम करीब 6 बजे अस्पताल में उनकी मौत हो गई थी। मृतक महिला के बेटे शंकर का आरोप है कि उस दौरान अस्पताल के एक कर्मचारी से उसकी मां का शव देने के लिए बात भी हुई तो उसने 8 हजार रुपए की मांग की थी। अस्पताल कर्मचारी के द्वारा बताया गया कि उन आठ हजार रुपयों से अंतिम संस्कार किया जाएगा।

शंकर का आरोप है कि अस्पताल स्टाफ ने शव देने के लिए 8 हजार रुपए की डिमांड की है। ये रुपए शव के अंतिम संस्कार के लिए मांगे गए हैं। वह इतने पैसे नहीं जुटा पा रहा है। शंकर वह अपनी मां का शव लेने के लिए सुबह 7 बजे ही अस्पताल पहुंच जाता है और रात के 11 तक बजे तक खड़ा रहता है, कोई तो उसे उसकी मां का शव सौंप दे। आहत होकर शंकर ने प्रशासन से गुहार लगाई है कि उसकी मां का शव उसे दिलाया जाए।


 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tamanna Bhardwaj

Related News

Recommended News

static