दिल्ली, मुंबई सहित 5 स्थानों पर दिखेगी ODOP की चमक, योगी सरकार खोलेगी शोरूम

punjabkesari.in Tuesday, May 17, 2022 - 08:12 PM (IST)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की ‘एक जिला एक उत्पाद' (ओडीओपी) योजना के तहत निखर रहे हुनर की चमक जल्द ही देश की राजधानी दिल्ली सहित पांच स्थानों पर दिखेगी। राज्य की योगी सरकार ने दिल्ली, अहमदाबाद, मुंबई, कोलकाता और नर्मदा तट पर ‘स्टेचू ऑफ यूनिटी' परिसर में ओडीओपी का शोरूम खोलने की तैयारी कर ली है।       

अपर मुख्य सचिव, सुक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग, डा0 नवनीत सहगल ने मंगलवार को बताया कि देश की आर्थिक राजधानी मुंबई के नवी मुंबई स्थित उत्तर प्रदेश भवन, कोलकाता के गरिया हाट स्थित दक्षिणायन शॉपिंग कॉम्पलेक्स और अहमदाबाद के अंबाबादी में भी ओडीओपी के शोरूम खोले जाएंगे। इसके अलावा गुजरात में नर्मदा तट पर स्थित स्टेच्यू ऑफ यूनिटी परिसर में भी ओडीओपी शोरुम खुलेगा।        

सरकार के पास इन सभी शहरों में प्रमुख स्थानों पर जगह उपलब्ध है। इनमें गंगोत्री शोरूम संचालित किए जा रहे हैं। सरकार इनका नवीनीकरण कराकर इनमें ओडीओपी के भी उत्पाद बिक्री के लिए उपलब्ध कराएगी। दिल्ली के कनॉट प्लेस में जहां ओडीओपी उत्पादों के लिए शोरूम खुलना है, वहां 4000 वर्गफीट से अधिक जगह उपलब्ध है और कार्य भी प्रगति पर है। उन्होंने बताया कि इसके अलावा अहमदाबाद में उप्र सरकार के पास 3000 वर्गफीट तथा नवी मुंबई में 1000 वर्गफीट जमीन उपलब्ध है, जहां ओडीओपी शोरूम खोलने की तैयारी है। इसके अलावा देश के सभी प्रमुख रेलवे स्टेशनों, हवाई अड्डों और प्रदेश के ऐसे सभी स्थानों पर ओडीओपी शोरूम खोलने की योजना है जहां सरकार के पास पहले से जगह उपलब्ध है।      

सहगल ने बताया कि ओडीओपी शोरूम बड़े परिसरों में खोलने की तैयारी है, ताकि वहां प्रदेश के ज्यादा से ज्यादा जिलों के उत्पाद प्रदर्शित किए जा सकें। शोरूम में आने वालों के लिए 100 से अधिक जायकों की फेहरिस्त में मुजफ्फरनगर का गुड़, बच्चों के लिए झांसी के खिलौने, कन्नौज का विश्व प्रसिद्ध इत्र, बनारस की रेशमी साड़ियों के अलावा लखनऊ के चिकन के कपड़े, मुरादाबाद के पीतल के उत्पाद, हाथरस की खुशबूदार हींग के साथ तमाम प्रकार के विकल्प उपलब्ध होंगे। सहगल ने कहा कि देश दुनिया के लोग प्रदेश के हर जिले के खास उत्पादों से परिचित हो सकेंगे।

उन्होंने बताया कि ओडीओपी मुख्यमंत्री की प्राथमिकता वाली योजनाओं में है। इसके जरिए स्थानीय हुनरमंदों के हुनर की पहचान और मुकम्मल होगी। उन्होंने कहा कि इससे स्थानीय स्तर पर लोगों को रोजगार उपलब्ध होंगे। जगह-जगह ओडीओपी शोरूम खुलने से उप्र के जिलों के खास उत्पादों की अच्छी ब्रांडिंग होगी। प्रदेश के कई स्थानीय उत्पाद देश-दुनिया में ब्रांड बनकर उभरे रहे हैं।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Mamta Yadav

Related News

Recommended News

static