विधान परिषद में बोले योगी- PM मोदी के निर्देशन पर हमने 2 स्वदेशी वैक्सीन तैयार की

2/25/2021 1:21:14 PM

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधान परिषद में कहा कि आज कोरोना के बारे में चर्चा हो रही थी, ये सबसे बड़ी त्रासदी है। दुनिया की बड़ी-बड़ी ताकतें पस्त हो गई, लेकिन हम मोदी जी के आभारी हैं, जिनके निर्देशन में हमने दो स्वदेशी वैक्सीन दी और साथ ही मित्र देशों को भी इसकी आपूर्ति हो रही है। हम वैज्ञानिकों को भी धन्यवाद देते है कि दो और वैक्सीन आ रही हैं। यही देश पहले भी था, लेकिन नेतृत्व के साथ देश कैसे बदल जाता है वो सब लोग देख सकते हैं।

जानकारी मुताबिक सीएम ने कहा कि हमने हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत किया है। मार्च 2020 में पहला केस आया था, लेकिन तब हमारे पास सुविधा नहीं थी। हमने टेस्ट के लिए उन्हें सफदरजंग भेजा था। लेकिन जब सामान्य नागरिक, जनप्रतिनिधि, सीएसआईआर और संगठनों से हमारे पास पैसा आया तब जाकर सारे काम हुए। योगी ने कहा कि मैं उन सबका का दिल से आभारी हूं।

योगी ने कहा कि आज हमारे पास 2 लाख टेस्ट प्रतिदिन करने की क्षमता है। जिसमें सरकार का पैसा कम, सीएसआईआर और संगठनों का पैसा ज्यादा है। उत्तर प्रदेश में 24 करोड़ की आबादी है जिसके लिए डेढ़ लाख बेड के अस्पताल बनाए गए।

उन्होंने कहा कि आज आज 75 जिलों में वेंटिलेटर भी हैं और अच्छी स्वास्थ्य सेवाएं भी हैं। कोरोना काल में जो भी उत्तर प्रदेश में आया वो भूखा,प्यासा नहीं रहा। उसे भोजन भी मिला, पानी भी मिला, जनता का सहयोग रहा। उसके साथ कोई दुर्व्यवहार नहीं हुआ, उसे सम्मान मिला और हमने सुविधा भी दी। हमने जाति नहीं देखी मजहब नहीं देखा। क्योंकि अटल जी ने कहा था आदमी न ऊंचा होता है न नीचा होता है, न छोटा होता है न बड़ा होता है आदमी तो आदमी होता है। योगी ने कहा कि हमद हसन जी अच्छे व्यक्ति हैं, लेकिन गलत दल में हैं।

उन्होंने कहा कि 40 लाख लोगों को राशन देने के मामले मे यूपी पहला राज्य है ।जिसने संगठित क्षेत्र के लिए भरण-पोषण भत्ता, राशनकार्ड दिलवाए। गरीब कल्याण पैकेज अप्रैल से नवम्बर तक अलग से उपलब्ध करवाए गए। सवा करोड़ लोगों को रोजगार दिलवाने के कार्य किया गया। योगी ने कहा कि पीपीई किट ज्यादातर हमें भारत सरकार द्वारा उपलब्ध करवाई गई। जैसे-जैसे संक्रमण बढ़ता गया उस तरह हमें किट उपलब्ध करवाई गई। मास्क,सेनेटाइजर, या अन्य उपकरणों के लिए जांच के लिए भी हमने स्टेट कमेटी बनाई गई थी, जिसके माध्यम से निरंतर जांच करवाई जा रही थी। लेकिन लॉकडाउन जैसे खुला संक्रमण बढ़ता गया और सरकार ने अपने 2 मंत्रियों को खो दिया।


Content Writer

Anil Kapoor

Related News