कंगना के विवादित बयान पर बोले- ओवैसी, ‘अगर किसी मुस्लिम ने कहा होता तो घुटने पर गोली मारकर भेज दिया जाता जेल’

punjabkesari.in Sunday, Nov 14, 2021 - 07:07 PM (IST)

अलीगढ़: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक पार्टियां अपनी तैयारी में जुटी है। इसी क्रम में एआईएमआईएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी भी उत्तर प्रदेश में अपनी राजनीतिक जमीन को तलाश ने में जुटे है। उन्होंने आज अलीगढ़ में एक जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने इस दौरान योगी सरकार पर निशाना साधते हुए मुसलमानों से एकजुट होने की अपील की। उन्होंने कंगना पर तंज कसते हुए कहा कि यदि किसी  मुस्लिम ने कहा होता तो घुटने पर गोली मारकर जेल भेज दिया जाता।  ओवैसी ने कहा मैं उत्तर प्रदेश में इसलिए नहीं आया हूं कि मुझे अपनी राजनीति चमकाना है बल्कि आप को बताने आया हूं कि आप एक हो जाए तो अपनी राजनीति कर पाएंगे। उन्होंने कहा इसका मतलब आप की को सियासी पार्टी नहीं है।

उन्होंने मुसलमानों को उदाहरण देते हुए कहा कि  मुलायम सिंह यादव ने यादव को एक करके समाजवादी पार्टी बनाई। ऐसी ही चौधरी चरण सिंह ने जाटों को एक कर अपनी पार्टी बना कर परचम लहराया था। भाजपा ने ब्राह्मण ठाकुर बनियों को एकत्रित करके भाजपा बनाई है तो आप क्यों नहीं अपनी पार्टी बना सकते है। उन्होंने मुसलमानों से अपील करते हुए कहा कि अपनी पार्टी बनाओं फिर आप सियासत नहीं पाएंगे। उन्होंने कहा कि आप लोगों ने सपा-बसपा को वोट देर उनकी सरकार बनाई परंतु आप को कुछ भी लाभ नहीं मिला।

उन्होंने कहा कि आर एस एस की शपथ है कि वह हिंदू राष्ट्र बनाना चाहते हैं। उत्तर प्रदेश में ए आई एम आई एम तो विभिन्न पार्टियों में खलबली मच गई है क्योंकि उनके गुणा गणित बिगड़ जाएंगे। उन्होंने कहा कि 1980 से पहले कोई हिंदुत्व की बात नहीं करता था परंतु 19 80 के बाद सावरकर की किताब के आधार पर हिंदुत्व की बात को फैलाई जा रही है। उन्होंने कहा कि मैं संविधान को मानता हूं इसी बातों को लेकर हमारी लड़ाई भाजपा से है। उन्होंने कंगना रनौत पर तंज कसते हुए  जो कहती कि 2014 में सही मायने में आजाद हुआ है ऐसे लोगों को सरकार पद्मश्री से नावाज रही है। भाजपा पर तंज कसते हुए कहा कि मैं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री से पूछना चाहता हूं  19 47 में आजाद हुआ था कि 2014 में आजाद हुआ है।

उन्होंने कहा कि अमित शाह आजम खां को याद करते है तो कासगंज के अल्ताफ को क्यों याद नहीं कर रहे है। अगर वह हिंदू तो तुरंत योगी आदित्यनाथ भी पहुंचे जाते आज तक पीड़ित परिवार की सुध नहीं ली। उन्होंने कहा कि हमारी राय अगर उनको पसंद नहीं आता तो हमारे लिए गोली मुकर्रर होती है या जेल हमारा मुकद्दर होता है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन में अलीगढ़ के कारोबार को बर्बाद कर दिया गया। उन्होंने तंज कसते हुए कि योगी सरकार में थाने के आन्दर पुलिस ने अल्ताफ को पीट कर मार डाल गया। जिसमें अज्ञात पुलिसकर्मियों को निलंबित किया गया। उन्होंने कहा कि बाबा सरकार चला रहे है प्रदेश में मुसलमानों पर फर्जी मुकदमा दर्ज कर जेल भेजा जा रहा है। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramkesh

Related News

Recommended News

static