दबंगों पर कार्रवाई न होने से नाराज महिलाओं ने की पंचायत, पुलिस पर लगाए गंभीर

1/1/2021 3:11:29 PM

मुजफ़्फरनगर: उत्तर प्रदेश में भले ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए मिशन शक्ति जैसे कोई भी कार्यक्रम चला ले मगर नतीजा जीरो ही है। जब तक प्रदेश से भ्रष्टाचार समाप्त नही होगा तब तक गरीबो को इंसाफ मिलना मुश्किल है। ऐसा ही एक मामला जनपद मुजफ़्फरनगर में सामने आया है जिसमें खेत मे चारा लेने गई 2 दलित महिलाओं के साथ दबंगो ने चार दिन पहले तो खेत मे खींचकर दुष्कर्म का प्रयास किया। पीड़ित महिलाओं द्वारा शोर मचाने पर उन्हें फावड़े से काट कर घायल कर दिया था जिसमें दोनों महिलाओं की हालत गंभीर है। दोनो को बाद में मेरठ रेफर किया गया है जहां उनका इलाज चल रही है।

पीड़ित महिलाओं को इंसाफ न मिलने की वजह से आज गांव में दलितों ने पंचायत की  जिसमें निर्णय लिया गया कि अगर थाना स्तर पर पुलिस उनकी कोई मदद नहीं करती तो आला अधिकारियों के दरवाजे खटखटाएंगे। आरोप है कि सभी आरोपी  गांव में खुले घूम रहे हैं  मगर पुलिस उन्हें गिरफ्तार नहीं कर रही है  पंचायत में निर्णय लिया गया कि अगर 2 दिन में थाना पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार नहीं करती तो 2 दिन के बाद  दलित समाज के लोग पुलिस अधीक्षक के कार्यालय पर धरना देंगे।

बता दें कि मामला थाना ककरौली क्षेत्र के गांव चोरावाला का है जंहा रविवार की दोपहर गांव के ही 5 लोगों ने दलित समाज की दो महिलाओं के साथ अश्लीलता करते हुए उनके साथ मारपीट कर गंभीर रूप से घायल कर दिया था। मेरठ के निजी अस्पताल में मौत और जिंदगी से जूझ रही जिस पर पीड़ित परिवार के अशोक कुमार ने आरोपियों के विरुद्ध थाने में तहरीर देकर कार्रवाही की  की मांग की थी जिस पर पुलिस द्वारा पीड़ित की तहरीर के आधार पर गंभीर धाराओं में 147, 148, 149, 323, 307, 376, 511, 354 ख 504, 506 व एससी एसटी के तहत मुकदमा दर्ज कर दिया गया था।

पीड़ित परिवार का कहना है कि आरोपी गांव में खुलेआम घूम रहे हैं। पुलिस उन्हें गिरफ्तार नहीं कर रही है ग्राम ककरौली में दलित समाज के लोगों द्वारा एक पंचायत का आयोजन किया गया जिसमें प्रवीण कुमार, रामबीर, बाबू, राहुल, राजेंद्र, सावन ,कैलाश ,बबलू, जोगिंदर, रोहित, रूपराम, धीर सिंह, किरण पाल, करवा, विजयपाल ,ओम सिंह, मांगे, ओम प्रकाश चौहन ,कुसुम, रेवती, वीरमति, सोहन ,विधि, शकुंतला, आरती, ज्योति, राकेश, सुनीता, माया ,संतो आदि सैकड़ों महिला व पुरुषों ने पंचायत में भाग लिया । उन्होंने कहा है कि पुलिस ने आरोपियों से सांठगांठ कर ली है और आरोपीयो को गिरफ्तार नहीं कर रही है वहीं पंचायत ने कहा कि अगर आरोपियों की दो दिन में गिरफ्तारी नहीं होती तो दो जनवरी को दलित समाज पुलिस अधीक्षक के ऑफिस पर जाकर धरना प्रदर्शन करेगा जिससे पीड़ित को न्याय मिल सके।


Ramkesh

Related News