पंचायत चुनाव में धांधली: एटा में 3 अधिकारियों पर लटकी तलवार, जांच की संस्तुति

5/7/2021 4:16:52 AM

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के एटा में पंचायत चुनाव की मतगणना में धांधली के आरोप को लेकर विधायकों के धरना प्रदर्शन के बाद जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी अजय प्रकाश और डिप्टी सीवीओ डॉ राम हरि और डॉ0 अनिल कुमार के विरुद्ध निलंबन और विभागीय जांच की चुनाव आयोग से संस्तुति की है।       

मतगड़ना में धांधली पर एटा में भाजपा के पांच विधायकों द्वारा विरोध प्रदर्शन कर जिला अधिकारी कार्यालय के सामने रात भर धरना दिया गया था। एटा में जिला पंचायत चुनाव की मतगणना में धांधली पर जिला अधिकारी डॉ विभा चहल ने बड़ी कार्यवाही की है। जिले के तीन बड़े अधिकारियों के निलंबन एवं विभागीय कार्यवाही के लिये चुनाव आयोग को संस्तुति की गयी है। वार्ड संख्या 10 के परिणाम में धांधली एवं घोर लापरवाही करने पर विकासखण्ड जलेसर पर तैनात सहायक रिटर्निंग ऑफीसर सदस्य जिला पंचायत डिप्टी सीवीओ डा राम हरि और जिला पंचायत सदस्य के रिटर्निंग ऑफीसर मुख्य विकास अधिकारी एटा अजय प्रकाश के खिलाफ इनको निलंबित करने एवं विभागीय कार्यवाही करने के लिये राज्य निर्वाचन आयोग को संस्तुति की गई है।       

धांधली के कारण वार्ड संख्या 10 में पूर्व में समाजवादी पार्टी की प्रत्याशी साधना देवी को जीत का प्रमाण पत्र दे दिया गया। बाद में बीजेपी विधायकों द्वारा जिला अधिकारी कार्यालय के सामने धरना देने पर वार्ड 10 के परिणाम को संशोधित कर बीजेपी प्रत्याशी गजेंद्र धनगर को विजयी घोषित कर रात 12.30 पर जीत का प्रमाण पत्र दिया गया।

इसके अलावा अलीगंज ब्लाक पर तैनात रिटर्निंग ऑफीसर डिप्टी सीवीओ डा अनिल कुमार द्वारा 03 मई को रात्रि में जीते हुए प्रत्याशियों को प्रमाण पत्र वितरित किए बिना एवं मतगणना के परिणाम को आयोग की बेबसाइट पर फीड किए बिना मतगणना स्थल को छोड़कर चले जाने पर उनके विरूद्ध भी निलंबित करने एवं विभागीय कार्यवाही करने केलिये निर्वाचन आयोग को संस्तुति की गई है। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Umakant yadav

Recommended News

static