भारत सरकार यूक्रेन से अपने नागरिकों को स्वदेश लाने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी: PM मोदी

punjabkesari.in Wednesday, Mar 02, 2022 - 07:45 PM (IST)

सोनभद्र/गाजीपुर: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को कहा कि भारत अपने बढ़ते सामर्थ्य के कारण युद्ध प्रभावित यूक्रेन से अपने नागरिकों को निकालने में सक्षम है। उन्होंने देश को आश्वासन दिया कि उनकी सरकार वहां फंसे सभी भारतीयों की सुरक्षित वापसी के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेगी। उत्तर प्रदेश के सोनभद्र और गाजीपुर जिलों में चुनावी रैलियों को संबोधित करते हुए, मोदी ने यूक्रेन के खिलाफ रूसी हमले के मद्देनजर सरकार के बचाव प्रयासों के बारे में बात की और भारत को आत्मनिर्भर बनने की आवश्यकता को भी रेखांकित किया। मोदी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि जो लोग आत्मनिर्भर भारत अभियान का मजाक उड़ाते हों, जो भारत की सेनाओं का अपमान करते हों, जो भारत के उद्यमियों की मेहनत से चल रहे ‘मेक इन इंडिया' अभियान का मखौल उड़ाते हों, वे घोर ‘परिवारवादी लोग' भारत को कभी ताकतवर नहीं बना सकते।

उन्होंने कहा कि देश ने यूक्रेन में फंसे सभी भारतीयों को बचाने के अभियान को प्राथमिकता दी है। उन्होंने कहा, ‘‘यह भारत के बढ़ते सामर्थ्य के कारण है कि हम यूक्रेन से फंसे भारतीयों को वापस लाने में सक्षम हैं।'' प्रधानमंत्री ने सोनभद्र में एक चुनावी रैली में कहा कि ‘ऑपरेशन गंगा' अभियान के तहत बड़ी संख्या में नागरिकों को वहां से वापस भारत लाया जा चुका है। उन्होंने कहा कि इस अभियान को गति देने के लिए केंद्र सरकार ने अपने चार मंत्रियों को भी भेजा है। उन्होंने कहा कि संकट में फंसे भारतीयों को ज्यादा तेजी से निकालने के लिए देश की सेना, वायुसेना को भी लगा दिया गया है। मोदी ने कहा, ‘‘मैं आज देश के लोगों को भी यह विश्वास दिलाता हूं कि भारत सरकार अपने नागरिकों की सुरक्षित वापसी के लिए कोई कोर कसर बाकी नहीं छोड़ेगी। बदलते हुए समय में भारत को और ज्यादा ताकतवर बनना ही होगा। भारत तभी ताकतवर बनेगा जब दूसरे देशों पर भारत की निर्भरता कम से कम होगी।'' 

उन्होंने सत्ता में रहते हुए गरीबों की समस्याओं को नजरअंदाज करने का आरोप लगाते हुए अपने प्रतिद्वंद्वियों पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि यदि ‘‘भ्रष्ट'' लोग मजबूत हो गए, तो वे फिर से गरीबों के कल्याण के लिए केंद्र द्वारा भेजे गए धन की लूट में लिप्त हो जाएंगे। प्रधानमंत्री ने आरोप लगाया कि सोनभद्र जैसे देश के अनेक जिले हैं जिनको प्रकृति ने अपने खजाने से समृद्ध किया है लेकिन अनेक वर्षों तक जो लोग सरकार में रहे, उन्होंने यहां की खनिज संपदा को अपनी मर्जी से लूटा और यहां के लोगों को अपने हाल पर छोड़ दिया। विधानसभा चुनाव में भाजपा के पक्ष में मतदान की अपील करते हुए मोदी ने कहा, ‘‘ध्यान रखिएगा आप घोर परिवारवादियों का इतिहास जानते हैं। चुनाव में वे यही खोजते रहते हैं कि अगर सरकार में जाने का मौका मिले तो कहां-कहां खजाना है, उसी पर उनकी नजर रहती है। ये भ्रष्टाचारी अगर मजबूत हुए तो आपके लिए भेजा गया सारा पैसा पहले की ही तरह खा जाएंगे।'' 

प्रधानमंत्री ने कहा कि जो लोग माफिया हित के लिए अवैध खनन और अवैध कब्जों के लिए बदनाम हों वे यहां के गरीबों के लिए सोच नहीं सकते। उन्होंने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के अब तक हुए पांच चरणों के दौरान भाजपा को व्यापक समर्थन मिलने का दावा करते हुए कहा कि ‘घोर परिवारवादियों' को लगा था कि उत्तर प्रदेश के लोगों को जात-पात में बांट देंगे, समाज के टुकड़े-टुकड़े कर देंगे और अपना चुनाव का खेल खेल लेंगे लेकिन उन्हें पता नहीं था कि उत्तर प्रदेश के लोग एकजुट होकर अपने विकास के लिए आज भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के समर्थन में वोट कर रहे हैं। मोदी ने कहा कि राजग सरकार सोनभद्र जैसे जिलों में जनजातीय समाज को किसी से पीछे नहीं रहने देगी। 

उन्होंने कहा, ‘‘दशकों बाद बिरसा मुंडा सहित अनेक जनजातीय सेनानियों और क्रांतिकारियों के योगदान को हमारी सरकार ने राष्ट्रीय पहचान दी है। बिरसा मुंडा के जन्मदिवस को हमारी सरकार ने जनजातीय गौरव दिवस घोषित किया है।'' उन्होंने कहा कि देशभर में 10 जनजातीय संग्रहालय भी बनाए जा रहे हैं और वन क्षेत्रों में रहने वाले लोगों की हर जरूरत का ध्यान सरकार रख रही है। गाजीपुर में आयोजित एक दूसरी सभा में प्रधानमंत्री मोदी ने भाजपा के प्रतिद्वंद्वियों पर निशाना साधते हुए कहा कि महलों में रहने वाले और बड़ी कारों में सवार होकर घूमने वाले लोग गरीबों की समस्याओं को नहीं समझ सकते। उन्होंने कहा कि परिवारवादियों ने महिलाओं की समस्याओं को कभी महसूस नहीं किया लेकिन उनकी सरकार ने उन्हें मुफ्त गैस कनेक्शन दिया। उन्होंने कहा कि 2.5 लाख से ज्यादा मुफ्त गैस कनेक्शन सिर्फ गाजीपुर में उज्ज्वला योजना के तहत दिए गए हैं। मोदी ने विपक्षी दलों को निशाने साधते हुए आरोप लगाया, ‘‘परिवारवादी पार्टी' वाले सदा महंगी गाड़ियों में चलते रहे। गरीबों के विकास के लिए मिलने वाले धन को लूटते रहे। इतना ही नहीं वृद्धा, विधवा और दिव्यांगों को दिया जाने वाले पेंशन का धन भी लूटते रहे। उन्होंने कभी भी पूर्वी उत्तर प्रदेश या गाजीपुर के विकास का कार्य नहीं किया है।'' 

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे बनवाकर पूर्वांचल सहित कई जिलों का विकास कर रही है। उन्होंने कोरोना काल के दो साल की याद दिलाते कहा कि सरकार ने किसी भी गरीब के घर का चूल्हा नहीं बुझने दिया और सभी को अन्न दिया। उन्होंने कहा कि उज्ज्वला योजना के तहत लाखों माताओं-बहनों को गैस चूल्हा मुफ्त देकर धुएं से मुक्ति दिलाई। उन्होंने कहा कि इतना ही नहीं अच्छे से अच्छे अस्पताल में इलाज के लिए लाखों गरीबों को ‘आयुष्मान भारत' के तहत पांच लाख रुपये के मुफ्त इलाज की सुविधा दी गई। उन्होंने कहा, ‘‘परिवारवादियों द्वारा टीके तथा शौचालय का मजाक उड़ाने की परवाह न करके सरकार ने गरीबों को मुफ्त टीका लगाकर उनकी जीवन रक्षा की। माताओं-बहनों को शौचालय देकर उनकी इज्जत बढ़ायी।'' 

मोदी ने गाजीपुर की रैली में गाजीपुर के मूल निवासी मनोज सिन्हा का भी जिक्र किया, जो वर्तमान में जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल हैं। उन्होंने कहा कि सिन्हा ने जिले का नाम रोशन करके विकास को गति देने का काम किया है। पूर्वांचल में गरीबी पर बात करते हुए मोदी ने दावा किया, ‘‘मैं जब भी गाजीपुर आता हूं, मुझे पूर्व सांसद विश्वनाथ सिंह गहमरी याद आते हैं। जब जवाहरलाल नेहरू की सरकार थी, विश्वनाथ गहमरी ने संसद में कहा था कि गरीबी के कारण पूर्वांचल के लोग मवेशियों के गोबर से खाने के लिए गेहूं के दाने निकालने को मजबूर थे।'' 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tamanna Bhardwaj

Related News

Recommended News

static