UP: संकट बना प्रदूषण, 363 AQI के साथ दिल्ली से ज्यादा प्रदूषित रहा ग्रेटर नोएडा और नोएडा

punjabkesari.in Sunday, Dec 13, 2020 - 03:18 PM (IST)

नोएडा:  सामान्य रुप से जिंदगी जीना आज के दौर में इंसानों के लिए मुश्किल हो गया है। कभी कोरोना तो कभी प्रदूषण जैसी समस्याएं हमेशा मुंह बाए खड़ी रहती हैं। ऐसे में दिल्ली के मुकाबले ग्रेटर नोएडा में रविवार को प्रदूषण का स्तर अधिक रहा। प्रदूषण के मामले में नोएडा और गाजियाबाद की स्थिति भी राष्ट्रीय राजधानी से खराब रही। वायु प्रदूषण सूचकांक ऐप ‘समीर' के अनुसार गाजियाबाद में वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 347 दर्ज किया गया।

बता दें कि एप के अनुसार बुलंदशहर में 398, दिल्ली में 352, नोएडा में 363, बागपत में 375, ग्रेटर नोएडा में 376, हापुड़ में 133, फरीदाबाद में 353, गुरुग्राम में 256, आगरा में 267,बल्लभगढ़ में 184, भिवानी में 310 , मेरठ में 257, एक्यूआई दर्ज किया गया। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में शनिवार को हल्की बारिश हुई। बारिश होने के बाद प्रदूषण का स्तर घटने की आशा थी, लेकिन वायु प्रदूषण घटने की बजाय और भी ज्यादा बढ़ गया। वायु प्रदूषण बढ़ने की वजह से एनसीआर में कोहरा छाया रहा और लोगों को सांस लेने में परेशानी हो रही है, तथा आंखों में जलन हो रही है। क्षेत्रीय प्रदूषण नियंत्रण अधिकारी प्रवीण कुमार ने बताया कि वायु प्रदूषण फैलाने वाले तथा नियमों का उल्लंघन करने वाले लोगों के खिलाफ विभाग कार्रवाई कर रहा है।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Moulshree Tripathi

Related News

Recommended News

static