आगरा में जलती चिता से पुलिस ने उठाए विवाहिता के अवशेष

punjabkesari.in Sunday, Jan 23, 2022 - 09:06 PM (IST)

आगरा, 23 जनवरी (भाषा) आगरा के थाना फतेहपुरसीकरी क्षेत्र के गांव दुलारा में रविवार तड़के एक विवाहिता की संदिग्ध हालत में मौत हो गई। ससुरालीजनों ने उसका अंतिम संस्कार कर दिया। मायकापक्ष ने ससुरालियों पर दहेज के लिए हत्या करने का आरोप लगाया। जिसके बाद पुलिस ने चिता से शव के अवशेष उठाकर पोस्टमार्टमगृह भेज दिए हैं। इस संबंध में रविवार को सीओ अछनेरा महेश कुमार ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। जांच में जो तथ्य सामने आएंगे, उनके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।
मिली जानकारी अनुसार कागारौल के अकोला निवासी छीतर सिंह ने बताया कि उनकी बहन सोनिया और बबली की शादी 29 अप्रैल 2018 को फतेहपुरसीकरी के गांव दुलारा निवासी हरेंद्र और शैलेंद्र से हुई थी। शादी के बाद बबली अपने पति के साथ नौकरी पर चली गई, सोनिया से उसके पति हरेंद्र और ससुर हरपाल दहेज को लेकर खुश नहीं थे। वे दो लाख रुपये दहेज की मांग कर रहे थे। दहेज न मिलने पर उन्होंने सोनिया से मारपीट की और उसे घर से निकाल दिया। रिश्तेदारों ने समझा बुझाकर सोनिया को फिर ससुराल भेज दिया था।
रविवार को गांव दुलारा से किसी व्यक्ति ने फोन करके उन्हें बताया कि सोनिया की हत्या कर उसके शव को जला दिया गया है। उन्होंने तभी यूपी 112 पर काल करके शिकायत की। इसके बाद पुलिस के साथ वे गांव दुहारा पहुंचे। तब तक शव के कुछ अवशेष ही चिता पर बचे थे। पुलिस ने शव के अवशेष कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिये। छीतर सिंह की तहरीर पर थाना फतेहपुरसीकरी में पति हरेंद्र सास अरुणा, ससुर हरपाल व दो अन्य के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। इस संबंध में रविवार को सीओ अछनेरा महेश कुमार ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। जांच में जो तथ्य सामने आएंगे, उनके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।




यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News

static