प्रदेश के हर परिवार के एक सदस्य को रोजगार से जोड़ने का प्रयास : मुख्यमंत्री

punjabkesari.in Thursday, Jun 30, 2022 - 09:08 PM (IST)

लखनऊ, 30 जून (भाषा) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बृहस्पतिवार को कहा कि उनकी सरकार प्रदेश के हर परिवार के एक सदस्य को नौकरी या स्वरोजगार से जोड़ने का प्रयास करेगी।
मुख्यमंत्री ने यहां आयोजित ऋण मेले के अवसर पर कहा, "राज्य सरकार परिवार कार्ड जारी करने जा रही है। इसके अन्तर्गत हम शीघ्र ही ऐसे परिवारों की मैपिंग कराने जा रहे हैं, जिनके किसी सदस्य ने कभी सरकारी नौकरी नहीं प्राप्त की। प्रदेश सरकार का प्रयास होगा कि ऐसे परिवारों के एक सदस्य को नौकरी या स्वरोजगार से जोड़ा जाए।" आदित्यनाथ ने प्रदेश में रोजगार सृजन की दिशा में अपनी सरकार के कार्यों का जिक्र करते हुए कहा, "उत्तर प्रदेश सरकार के प्रोत्साहन तथा बैंकों के सकारात्मक सहयोग से आज उत्तर प्रदेश के युवाओं को उनकी आकांक्षाओं के अनुरूप रोजगार मिला है। बेरोजगारी दर को 18 प्रतिशत से कम करते हुए तीन प्रतिशत से भी नीचे लाने में हमें सफलता प्राप्त हुई है।" मुख्यमंत्री के समक्ष सरकार की ''एक जनपद, एक उत्पाद'' योजना के उत्पादों का निर्यात बढ़ाने के लिए ''अमेज़ॉन डॉट कॉम'' के साथ एक अनुबंध पर हस्ताक्षर किए गए। इसके तहत अमेज़ॉन छोटी इकाइयों के उत्पादों के निर्यात में सहायता करेगा। अमेज़ॉन छोटी इकाइयों को डिजिटाइज करने का कार्य कर रहा है। इसके लिए अमेज़ॉन द्वारा कानपुर में एक डिजिटल केन्द्र स्थापित किया जा रहा है। यह गुजरात के सूरत के बाद अमेज़ॉन द्वारा देश में स्थापित दूसरा केन्द्र होगा।
आदित्यनाथ ने कहा कि वर्ष 2017 के बाद प्रदेश की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने न केवल कृषि के क्षेत्र में अनंत संभावनाओं को आगे बढ़ाया, बल्कि परंपरागत उद्यम को प्रोत्साहित करने के लिए 2018 में शोध व व्यापक कार्ययोजना के साथ ''एक जनपद एक उत्पाद'' (ओडीओपी) योजना शुरू की गई।
मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम के दौरान ‘एक जनपद एक उत्पाद योजना’ के तहत आगरा, अम्बेडकरनगर, सीतापुर, आजमगढ़, सिद्धार्थनगर में स्थापित सामान्य सुविधा केंद्र का उद्घाटन किया। उन्होंने इस केंद्र पर उपस्थित लाभार्थियों से संवाद भी किया।
उन्होंने नौ हस्तशिल्पियों, कारीगरों एवं उद्यमियों को दिये गये ऋण के प्रतीकात्मक चेक सौंपे। सभी 75 जिलों में आयोजित वृहद ऋण मेले के इस कार्यक्रम के तहत ‘प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम’, ‘प्रधानमंत्री मुद्रा योजना’, ‘मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना’, ‘एक जनपद एक उत्पाद वित्त पोषण योजना’ के एक लाख 90 हजार लाभार्थी हस्तशिल्पियों, कारीगरों एवं उद्यमियों को 16 हजार करोड़ रुपये के ऋण का वितरण किया गया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर वर्ष 2022-23 की 2.95 लाख करोड़ रुपये की वार्षिक ऋण योजना का विमोचन भी किया।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News

static